होली पर 10 लाइन? 10 line on holi?

हमारे देश में अनेक त्यौहार मनाए जाते हैं, क्योंकि सभी धर्मों के लोग यहां रहते हैं, इसीलिए प्रतिदिन कुछ ना कुछ त्यौहार पड़ते ही रहते हैं। जिनमे सबसे प्रमुख त्यौहार हिंदुओं द्वारा मनाए जाने वाले होली, दिवाली,दशहरा,आदि होते हैं। इनमें से सबसे ज्यादा प्रसन्नता और उत्साह का त्योहार होली का होता है, क्योंकि रंगों का त्योहार होता है और इसको रंगोत्सव के नाम से भी सभी लोग जानते हैं। इस दिन लोग सभी अपने गिले-शिकवे पुरानी दुश्मनी को भूल कर एक दूसरे के आपस में रंग गुलाल लगाते हैं,और अच्छे से होली को सेलिब्रेट करते हैं।

होली फागुन महीने की पूर्णिमा को मनाई जाती है। इसको बच्चे और युवा वर्ग के लोग रंगों के साथ में खेलते हैं। घरों में तरह-तरह के पकवान बनाए जाते हैं, और होली के 1 दिन पहले होलिका दहन का भी आयोजन होता है। उसमें होली जलाई जाती है। आज हम इस पोस्ट के माध्यम से होली पर 10 लाइन लिखने जा रहे हैं, अक्सर बच्चों की पढ़ाई में शामिल होने वाला यह सवाल बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। और किसी भी प्रकार की परीक्षा में होली पर निबंध,होली पर 10 लाइन, 5 लाइन हमेशा परीक्षा में या पढ़ाई में शामिल की जाती हैं। आज हम आपको होली के बारे में, होली पर 10 लाइन बताने जा रहे हैं आइए जानते हैं.

होली पर 10 लाइन? 10 line on holi?

होली का त्यौहार

हमारे देश में होली का त्योहार धूमधाम से मनाया जाने वाला त्यौहार है इसको रंगों का त्योहार भी कहा जाता है।कुछ जगह पर तो फूलों की होली भी खेली जाती है। होली का त्यौहार हर साल मार्च के महीने में फागुन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है। यह लगातार तीन दिनों तक चलने वाला त्यौहार होता है। होली के त्योहार पर सबसे ज्यादा बच्चे उत्साहित होते हैं क्योंकि उनको रंग गुलाल से खेलने का मौका मिलता है।

होली पर 10 लाइन

होली पर 10 लाइन निम्न प्रकार से हैं

1. होली प्रतिवर्ष फाल्गुन महीने की पूर्णिमा को मनाया जाता है। अंग्रेजी महीनों के अनुसार यह मार्च के महीने में आती है।

2. होली हमारे हिंदू धर्म के सभी बड़े त्योहारों में से एक त्यौहार है।

3. होली को रंगों व फूलों की होली का त्योहार भी कहा जाता है।

4. होलिका दहन का त्योहार अच्छाई पर बुराई की जीत का त्यौहार माना जाता है क्योंकि यह त्यौहार के पीछे भक्त प्रहलाद की रक्षा पौराणिक कथा से जुड़ा हुआ है।

5 भारत की सबसे प्रसिद्ध होली लठमार होली होती है, क्योंकि भगवान कृष्ण ने होली को राधारानी व गोपीयो के साथ खेली थी।

6. होली के1दिन पहले होलिका दहन होता है, जो कि पौराणिक भक्त प्रहलाद की कथा से है।

7.पुराने समय में तो लोग प्राकृतिक रंगों का ही प्रयोग करते थे इसीलिए कहीं ना कहीं होली प्रकृति से जुड़ा हुआ पर भी कहलाता है।

8. आज लोगों ने होली के त्यौहार को केमिकल युक्त कर दिया है अर्थात केमिकल के रंगों का प्रयोग करने से लोगों में अनेक बीमारी हो जाती है इसके अलावा यह रंग स्क्रीन को बहुत नुकसान पहुंचाता है।

8. होली के त्यौहार पर लोग अपने आप से दुश्मनी को बुलाकर एक दूसरे को रंग लगाकर इस त्यौहार को बढ़ाते हैं।

9.होली के त्यौहार को हिंदू धर्म के अलावा सभी धर्मों के लोग प्यार करें और हर्ष व उल्लास के साथ मनाते है।

10. होली के दिन सभी लोग आपस में एक दूसरे के साथ खुशियां बांटते हैं और एक दूसरे के घर भी रंग लगाने जाते हैं।

होली मनाने का कारण

हिंदू धर्म के पुराणों के अनुसार भगवान विष्णु ने अपने भक्त प्रहलाद को अपने पिता के द्वारा हो रहे अत्याचारों से मुक्त करवाया था भगवान ब्रह्मा के द्वारा वरदान के रूप में हिरनाकश्यप की बहन होला ने अग्नि में ना जलने वाले वस्त्र भगवान से वरदान स्वरूप प्राप्त किए थे।वह उन वस्त्र की सहायता से प्रहलाद को गोद मे लेकर बैठ गई थी। इससे भगवान विष्णु की कृपा से वह वस्त्र प्रहलाद के ऊपर गिर गए और होलिका जलकर भस्म हो गई व प्रहलाद बच गया। तभी से ही इस त्यौहार को मनाया जाने लगा।

होली के त्यौहार का महत्व

होली के त्यौहार का हिंदू धर्म में बहुत ही बड़ा महत्व होली के पर्व से जुड़े हुए होलिका दहन वाले दिन परिवार के सभी लोग उबटन लगाते हैं ऐसी मान्यता है कि उबटन लगाने से सभी व्यक्ति रोग मुक्त हो जाते हैं और गांव में तो घर घर में होलिका जलाने के लिए लकड़ियां भी दी जाती हैं आग में जलने वाली लकड़ियों के साथ लोगों के सभी बुरे विचार भी जलकर नष्ट हो जाते हैं होली के शोर में सभी बड़े बड़े दुश्मन भी आप ही गले लगकर अपनी पुरानी रंजिशों को भूल जाते हैं।

भारत की प्रसिद्ध होली 

1. बरसाना की लट्ठमार होली – बरसाने की लठमार होली विश्व प्रसिद्ध होली है लठमार होली के दिन महिलाओं के हाथ में डंडा होता है जिससे वह सभी आदमियों पर डंडे मारती है नंद गांव के पुरुषों की गोप थे जो कि राधा रानी मंदिर पर झंडा पहनाने की कोशिश करते हैं, उन सभी को महिलाओं के लट्ठ से बचना होता है। इसीलिए वहां की होली प्रसिद्ध है।

2.बिहार की फगुआ होली – बिहार की फगुआ होली बहुत प्रसिद्ध है क्योंकि फाल्गुन का मतलब लाल रंग होता है इसलिए इसको फगुआ होली भी कहा जाता है।

3. हरियाणा की धुलेंडी होली – हरियाणा की धुलेंडी होली बहुत प्रसिद्ध है क्योंकि यहां सभी भाभियों अपने देवर के साथ में होली खेलती है। शाम को सभी देवर अपनी भाभियों के लिए गिफ्ट लाते हैं और सभी भाभी उनको आशीर्वाद देती है।

4.ओडिशा की डोल होली – बंगाल उड़ीसा में उनको डोल पुर्णिमा का नाम से चलते हैं। होली के भगवान जगन्नाथ की मूर्ति को झोली में रखकर पूरे शहर में घुमाया जाता है। सभी लोग उनके झांकी में शामिल होते हैं,इसीलिए इसको डोल होली कहते हैं।

5 महाराष्ट्र गुजरात की मटकी फोड़ होली – महाराष्ट्र और गुजरात में भगवान श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं का स्मरण करते हुए होली का त्यौहार मनाते हैं महिलाएं मक्खन से भरी मटकी को ऊंचाई से बांध देती है और पुरुष इनको तोड़ने का प्रयास करते हैं नाच गाने के साथ में सब लोग होली मनाते हैं।

Conclusion

आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से होली पर 10 लाइन के बारे में बताया है। इसके अलावा होली कैसे मनाई जाती है, होली का महत्व और भारत में कहां-कहां की होली प्रसिद्ध है। इन सब के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। उम्मीद है, आपको हमारे द्वारा दी गई सभी जानकारी पसंद आई होगी किसी भी जानकारी के लिए या सुझाव के लिए आप हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट करके पूछ सकते है।

Eassy on Republic Day

Eassy on Republic Day – गणतंत्र दिवस पर निबंध

0
आप हर साल 26 जनवरी को देश के हर ज क झंडे को लहराते देख सकते हैं इस दिन झंडा फहरा कर हम त्यौहार...
nepal ki jansankhya

nepal ki jansankhya – Population of Nepal

1
जैसा कि आप जानते हैं कि नेपाल एक ऐसा देश है जो कि 2 बड़े देश यानी कि भारत और चीन के बीच में...
Duniya me sabse jyada bole jane wali bhasha

Duniya me sabse jyada bole jane wali bhasha – आखिर कौन सी भाषा दुनिया...

0
दोस्तों आप इस बात को तो जानते ही होंगे कि दुनिया के हर क्षेत्र में अलग-अलग भाषाएं बोली जाती है। कहने का मतलब यह...
Bharat ka sabse swaksh seher

Bharat ka sabse swaksh seher – भारत का सबसे साफ और सुंदर शहर कौन सा...

0
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की जिसके बाद भारत में लगभग हर शहर, कस्बा और गांव अपने आप...

सिम पोर्ट कैसे करें? How to port sim?

0
अक्सर देखा जाता है कि लोगों के सामने किसी भी टेलीकॉम कंपनी के द्वारा मिल रही इंटरनेट की सुविधा, कॉलिंग की सुविधा को लेकर...
error: Content is protected !!