1947 मे Dollar की कीमत क्या थी?

भारत में करंसी का इतिहास 2500 साल पुराना है सन् 1917 की बात है. उस समय 1 रुपया 13 Dollar के बराबर हुआ करता था फिर 1947 में अपना भारत देश स्वंतत्र हुआ फिर 1 रूपया 1 Dollar हो गया देश के स्वंतत्रता के समय देश पर कोई कर्ज नहीं था.

1951 में पहली पंचवर्षीय योजना के लिए सरकार ने कर्ज लिया 1948 में 1996 के बीच एक Dollar की कीमत 4.66 रुपए हो गया था 1975 में 1 Dollar 8.39 रुपए 1985 में एक Dollar 12 रुपए 1991 में बहुत महंगाई, विकास दर कम होना और फोरेन रिर्जव कम होने के कारण 1 Dollar 17.90 रुपए हो गई 1993 में एक Dollar 31.37 रुपए, 2000-2010 के दौरान यह एक Dollar 40-50 रुपए हो गई.

1947 मे Dollar की कीमत क्या थी?

2013 में तो यह और भी महंगी 65.50 रुपए तक पहुँच गई भारत पर कर्ज बढने लगा तो इंदिरा गांधी ने भारत के कर्ज चुकाने के लिए रुपये की कीमत कम करने का फैसला लिया उसके बाद आज के समय तक रुपये की कीमत कम होता आ रही है 1 रुपए में 100 पैसे होंगे ये बात सन् 1957 में लागू की गई थी अतीत में इसे 16 आने में बांटा जाता था यदि अग्रेजो का तो आज भी भारत की करंसी पाउंड होती लेकिन रुपए की मजबूती के कारण ऐसा संभव नहीं हुआ.

एक आंकड़े के हिसाब से इस समय भारत देश में 400 करोड़ रुपए के नकली नोट है यदि किसी व्यक्ति के पास आधे से भी ज्यादा फटा हुआ नोट होता है तो वह व्यक्ति उस नोट को बैंक जाकर बदल सकता है सुरक्षा कारणो की वजह से आपको नोट के सीरियल नंबर में  I, J, O, X, Y, Z  अक्षर नहीं मिलेंगे.

भारतीय हर नोट पर किसी न किसी चीज की तस्वीर होती है. जैसे – 20 रुपए के नोट पर अंडमान आइलैंड की फोटो है वही 10 रुपए के नोट पर हाथी, गैंडा और शेर छपा हुआ है और 100  रुपए के नोट पर पहाड़ और बादल की फोटो है इसके अलावा 500 रुपए के नोट पर आजादी के आंदोलन से संबंधित 11 मूर्ति की फोटो छपी है. Also Read: Net Banking Kaise Chalu Kare- Net Banking Kya Hai?

भारतीय नोट पर उसकी कीमत 15 भाषाओं में लिखी जाती है RBI ने जनवरी 1938 में सबसे पहले 5 रुपए की पेपर करंसी छापी थी. जिस पर किंग जॉर्ज -6 का फोटो था इसी वर्ष 10,000 रुपए का नोट भी छप कर तैयार हुआ था पंरतु सन् 1978 में इसे पूरी तरह बंद कर दिया गया आजादी के बाद पाकिस्तान ने तब तक भारतीय मुद्रा का प्रयोग किया जब तक उन्होंने काम चलाने लायक नोट न छाप लिए.

भारतीय नोट के कागज आम कागज नहीं होते बल्कि कोटन के बने होते हैं ये नोट काफी मजबूत होतें है पहले एक समय ऐसा था जब बांग्लादेश ब्लेड बनाने के लिए भारत से 5 रुपए के एक सिक्के से 6 ब्लेड बनते थे 1 ब्लेड की कीमत 2 रुपए होती थी तो ब्लेड बनाने वाले को काफी मुनाफा हो जाता था इसे देखते हुए भारत सरकार ने सिकका बनाने वाला मेटल ही बदल दिया स्वंतत्रता के बाद सिक्के तांबे के बनते थे सन् 1964 में सिक्के एल्युमिनियम के और 1988 में स्टेनलेस स्टील के बनने शुरू हुए.

भारत के नोट पर महात्मा गांधी की जो फोटो छपती है वह तब खींची गई थी जब गाँधी जी तत्कालीन बर्मा और भारत में ब्रिटिश सेक्रेटरी के रूप में कार्यरत फ्रेडरिक पेथिक लोरेंजो के साथ कोलकाता बने वायसराय हाउस में मुलाकात करने गए थे फिर यही फोटो सन् 1996 में नोटों पर छपनी शुरू हुई थी इससे पहले गाँधी जी की फोटो नहीं होती थी अशोक स्तंभ छापा जाता था.

भारत के 500 और 1000 रुपये के नोट नेपाल में नहीं चलते सन् 1987 में पहला नोट 500 का और 1000 का पहला नोट 2000 में बनाया गया था भारत में 75,100 और 1000 रुपये के भी सिक्के छप चुके हैं. 1 रुपये और 2 रुपये, 1000 का नोट भारत सरकार द्वारा नोट RBI द्वारा किये जाते हैं. एक वक्त पर भ्रष्टाचार से मुकाबला करने के लिए 10 का नोट 5 th pillar नाम की गैर सरकारी संस्था द्वारा जारी किए गए थे.

10 रुपये के सिक्के को बनाने में 6.10 रुपये का खर्चा हो जाता है नोटों पर सीरियल नंबर इसलिए डाला जाता है जिससे RBI को पता चलता रहे कि इस समय मार्केट में कितनी करंसी है यह रुपया भारत के अलावा इंडोनेशिया, मोरोशस , नेपाल, पाकिस्तान और श्री लंका की भी करंसी है आरबीआई एक साल में 2000 करोड़ करंसी नोट छापता है सन् 2010 में रुपये के चिन्ह को उदय कुमार ने बनाया था इसलिए इनको 2.5 लाख रुपये का इनाम भी मिला था

आरबीआई जितना चाहे उतना नोट तैयार कर सकती है बल्कि वह सिर्फ 10,000 तक के नोट छाप सकती है यदि इससे अधिक कीमत के नोट छापने है तो उसको रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया एकट 1934 में बदलाव करना होगा हमे कितना नोट छापना है इसका निधार्रण मुद्रा स्फीति, जीडीपी ग्रोथ, बैंक नोट्स के रिप्लेसमेंट और रिजर्व बैंक के स्टोक के आधार पर किया जाता है सभी सिक्के पर सन् के नीचे एक खास निशान बना होता है इस निशान से आप पता कर सकते हैं कि यह नोट का निर्माण कहा हुआ है

निष्कर्ष= आज के हमारे इस आर्टिकल से आपको हमारे देश के Dollar की कीमत का पता चल गया होगा और नोट से संबंधित सभी जानकारी मिल गईं होगी आपको यह पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले.

Jio Phone Me Play Store Kaise Chalaye? – HindiKalam

1
Jio Phone Me Play Store Kaise Chalaye? : हेलो दोस्तो आप सभी आर्टिकल का टाइटल पढ़कर समझ गए होंगे की, आज के आर्टिकल में...

Paypal Account Kaise Banaye? in 2021 – HindiKalam

3
Paypal Account Kaise Banaye? in 2021 : हेलो दोस्तो कैसे है आप सभी हम उम्मीद करते है की आप सभी ठीक होंगे। आज हम...

लव का फुल फॉर्म क्या होता है? Love ka full form kya hota hai?

1
हेलो दोस्तों क्या आप जानते हैं लव का फुल फॉर्म क्या होता है। लव प्यार,दोस्ती, भावना को कहा जाता है। प्यार एक ऐसा  ऐसा...

Free fire का बाप कौन है? Free Fire ka baap kaun hai 2021?

1
Free Fire ka Baap kaun hai? वैसे तो हर गेम अपने आप में महान होता है लेकिन लोगो को कुछ अच्छा देखने के लिए...

वर्क शीट क्या होती है What is a Worksheet?

2
आज के तकनीकी विज्ञान से भरे युग में सभी कार्य कंप्यूटर पर किए जाते हैं.। ऐसे में बहुत ही ऐसी कंप्यूटर एप्लीकेशंस होती है...
error: Content is protected !!