आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इन हिंदी ? artificial intelligence in hindi ?

आज के समय में अगर इंसानों ने टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में जितना विकास किया है तो उसका सबसे बड़ा कारण हमारा हुमन ब्रेन है। अपनी इस बुद्धि के बल पर ही आज इंसान ने बहुत से आविष्कार किए हैं, यह बहुत बड़ी बात है कि आज मनुष्य की जिंदगी में एक नई दिशा आई है। जब पहली बार कंप्यूटर बने थे, तब किसी ने नहीं सोचा था कि आज भविष्य में सभी स्मार्टफोन जैसी चीज का भी उपयोग कर पाएंगे।

एक समय में जब इंसान जैसे दिखने वाली इंसानों की तरह सोचने वाली इंसानों की तरह फैसला लेने वाली मशीनें अक्सर फिल्म या फिक्शन में देखी जाती थी, लेकिन अब धीरे-धीरे यह सब हमारी रियल लाइफ में भी देखने को मिलती है। आज की डिजिटल के युग में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंसी हमारे जीवन का सत्य बन गया है। आने वाले दिनों में इसके बिना जीवन की कल्पना करना मुश्किल हो जाएगा।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंसी का इस्तेमाल मानव निर्मित उन सभी चीजों के लिए किया जाता है,जिसमें खुद सोचने समझने सीखने की योग्यता होती है, यानी कि वह मशीनी मानव जो इंसान की तरह ही न सिर्फ सोच सकता है, बल्कि खुद से फैसला भी ले लेता है। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंसी इन हिंदी के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं.

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इन हिंदी ? artificial intelligence in hindi ?

क्या होती है आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस?

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को कृतिम बुद्धिमता कहा जाता है। अगर आपको सामान्य भाषा में कहें तो कंप्यूटर रोबोट या किसी चिप की मदद से एक मशीन में अपने टारगेट से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण डांटा को स्टोर किया जाता है और इस डाटा से सॉफ्टवेयर तैयार होते हैं। जो किसी भी परिस्थिति के अनुसार सही तरीके से निरीक्षण कर सके।

 इसके बाद यह सॉफ्टवेयर रियल टाइम परिस्थितियों में भी यूज में हो जाते हैं, इस तकनीकी को ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कहा जाता है। 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस  के द्वारा ऐसे कंप्यूटर कंट्रोल रोबोट या सॉफ्टवेयर बनाने की योजना मनाई जा रही है, जो मनुष्य की तरह ही सोचने समझने का कार्य करें। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के द्वारा इसको परिपूर्ण बनाने के लिए पूरी तरह तैयारी की जा रही है। इसकी ट्रेनिंग में जो मशीनों का अनुभव सिखाया जाता है, नए इनपुट के साथ तालमेल बनाने मानव जैसे कार्य करने के लिए भी तैयार किया जाता है। कुल मिलाकर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के साथ उपयोग में ऐसी मशीनें बन रही है, जो एनवायरमेंट के साथ इंस्ट्रक्ट करके क्राफ्ट डाटा को खुद अपनी बुद्धिमानी से कार्य कर सके।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के प्रकार

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है रिसर्च एआई,अप्लाइड एआई

1.रिसर्च AI – रिसर्च में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का प्रयोग मुख्य रूप से किसी नए नियम की खोज नया डिजाइन बनाने या किसी नई डिवाइस को बेहतर बनाने के लिए होता है उदाहरण के लिए गूगल सर्च रिजल्ट को बेहतर बनाने के लिए रिसर्च एआई का प्रयोग किया जाता है।

2. अप्लाइड AI – जब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का प्रयोग आम जीवन में उपयोग के लिए सभी लोग करते हैं। जैसे एप्पल की सीरी, ऐमेज़ॉन का एलेक्सा, एलोन मस्क की सेल्फ ड्राइविंग कार जैसे बहुत से अनगिनत डिवाइसेज अप्लाइड एआई के ही उदाहरण होते हैं।

Also Read:Iphone इतने महंगे क्यों होते है? Iphone itne mahnge kyu hota hai?

Artificial intelligence का इतिहास

प्राचीन काल से ही कृतिम शिल्पो के मिथकों कहानियों और अफवाहों के साथ मास्टर कारीगरों की सोच से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ई हिस्ट्री के बारे में जानकारी मिली है लेकिन आधुनिक एआई शास्त्रीय दार्शनिकों के द्वारा यह शुरू की गई थी। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की शुरुआत 1940 के समय में प्रोग्रामेबल डिजिटल कंप्यूटर के आविष्कार के रूप में हुई थी जो कि मानव निर्मित एक गणितीय तर्क पर आधारित मशीन थी।

Artificial intelligence के उपयोग

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के उपयोग निम्न प्रकार से हैं

1. 24×7 उपलब्धता – मशीनों को भी इंसानों की तरह लगातार आरामिया रिप्लेसमेंट की आवश्यकता नहीं होती है इन को लंबे समय तक काम करने के लिए प्रोग्राम किया जाता है तथा यह मशीनें बिना थके लगातार 24/7 कार्य करने में सक्षम होती है इसका जीता जागता उदाहरण है एटीएम मशीन।

2. day to day आवेदन – जैसा कि आप सब जानते हैं आज हमारी रोज की जरूरतों में स्मार्टफोन मोबाइल फोन बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसके बिना किसी का कार्य नहीं चल सकता है, इसका मतलब साफ है कि आप रोजाना आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग कर ही रहे हैं। इसके अलावा जब आप लॉन्ग ड्राइव पर जाते है तो ट्रेकिंग के लिए जीपीएस का उपयोग करते हैं, यह भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का ही एक हिस्सा है।सबसे अधिक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग वित्तीय संस्थानों बैंकिंग क्षेत्रों आदि ने किया जाता है। इसके अलावा एआई का उपयोग धोखाधड़ी का पता लगाने के लिए भी किया जाता है।

3. डिजिटल हेल्प – बहुत से संगठनों ने इस टेक्नोलॉजी का उपयोग करने के लिए अपने ग्राहकों से बातचीत करने के लिए कई प्रकार की मशीनों को भी लागू किया है जो कि एक डिजिटल सहायक और मानव संस्थान की आवश्यकताओं को कम करने में मदद करती है रोबोट उपयोगिता के डिमोशन की पहचान नहीं कर सकती है लेकिन तार्किक रूप से सोचने के लिए मशीनों को प्रोग्राम किया जाता है।

4. रिपिटेटिव जॉब को संभालना – एक ही काम को बार-बार करना बहुत थकान वाला कार्य हो जाता है जब एआई के द्वारा इस प्रकार की नौकरियों को बहुत सरलता से हैंडल करते हैं तो इन जॉब्स में बहुत इंटेलिजेंट की जरूरत नहीं होती है मशीनें बहुत तेजी से सोचते हैं और रिजल्ट देने में भी यह बहुत अच्छी होती है। इसके साथ ही इन मशीनों को खतरनाक कार्यों के लिए भी उपयोग में हर इंसान ले सकता है।

5. चिकित्सा क्षेत्र में – आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के महान उपयोग में एक सबसे महत्वपूर्ण उपयोग चिकित्सा क्षेत्र का भी होता है चिकित्सक रोगी के स्वास्थ्य से लेकर सभी प्रकार के टेस्टों का आकलन करने के लिए आई की मदद से स्वास्थ्य की देखभाल उपकरणों को चिकित्सा के लिए सूचित करते हैं रोगियों पर होने वाली अलग-अलग दबाव के दुष्परिणाम को जानने मैं मदद और व्यक्तिगत डिजिटल देखभाल का कार्य भी इनके द्वारा किया जाता है। AIमानव मस्तिष्क की कार्यक्षमता का अनुकरण करती है।

Artificial intelligence से होने वाला नुकसान

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एक बहुत अच्छी और बेहतर तकनीक है इसको हम आने वाले कल का भविष्य भी बोल सकते हैं लेकिन जब किसी चीज के फायदे होते हैं तो उसके नुकसान भी हो सकते हैं यह तकनीक अगर किसी आतंकवादी संगठन के हाथ लग गई तो इसका दुरुपयोग वह लोग कहीं भी कर सकते हैं इससे पूरे मानव जीवन को क्षति पहुंच सकती है बहुत ही नुकसान भी हो सकता है यह हमारे लिए बहुत हानिकारक सिद्ध हो जाएगा।

conclusion

आज हमने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इन हिंदी के बारे में जानकारी दी है। उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई सभी जानकारी पसंद आई होगी। इससे जुड़ी अन्य जानकारी के लिए या किसी भी सहायता के लिए आप हमारी वेबसाइट से जुड़े रह सकते हैं और कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट करके भी पूछ सकते है।

Eassy on Republic Day

Eassy on Republic Day – गणतंत्र दिवस पर निबंध

0
आप हर साल 26 जनवरी को देश के हर ज क झंडे को लहराते देख सकते हैं इस दिन झंडा फहरा कर हम त्यौहार...
nepal ki jansankhya

nepal ki jansankhya – Population of Nepal

1
जैसा कि आप जानते हैं कि नेपाल एक ऐसा देश है जो कि 2 बड़े देश यानी कि भारत और चीन के बीच में...
Duniya me sabse jyada bole jane wali bhasha

Duniya me sabse jyada bole jane wali bhasha – आखिर कौन सी भाषा दुनिया...

0
दोस्तों आप इस बात को तो जानते ही होंगे कि दुनिया के हर क्षेत्र में अलग-अलग भाषाएं बोली जाती है। कहने का मतलब यह...
Bharat ka sabse swaksh seher

Bharat ka sabse swaksh seher – भारत का सबसे साफ और सुंदर शहर कौन सा...

0
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की जिसके बाद भारत में लगभग हर शहर, कस्बा और गांव अपने आप...

सिम पोर्ट कैसे करें? How to port sim?

0
अक्सर देखा जाता है कि लोगों के सामने किसी भी टेलीकॉम कंपनी के द्वारा मिल रही इंटरनेट की सुविधा, कॉलिंग की सुविधा को लेकर...
error: Content is protected !!