बैकअप मीनिंग इन हिंदी Backup meaning in hindi

“Backup” क्या आप सभी इस शब्द के बारे में जानते हैं या फिर आपने किसी चीज के लिए बैकअप लिया है अगर आपने किया है तो जरूर आपको इस विषय में जानकारी होगी। क्योंकि अक्सर कंप्यूटर, मोबाइल, लैपटॉप इन में बैकअप का इस्तेमाल होता है। अगर आपका कोई महत्वपूर्ण डाटा किसी कारणवश लॉस हो जाए तो उसको लॉस होने के लिए आपको बहुत तकलीफ होती होगी। 

बैकअप मीनिंग इन हिंदी Backup meaning in hindi

क्योंकि डाटा अर्थात महत्वपूर्ण जो भी इंफॉर्मेशन अगर खो जाए तो सभी को परेशानी होती है। इसीलिए उस डेटा का बैकअप लेना होता है। डाटा को उसके बाद चेकअप लेकर रिकवर कर लेते हैं। वैसे बैकअप के बारे में आज हम आपको एक ऐसा प्रोसेस बताएंगे, जिसके इस्तेमाल करने से आप ओरिजिनल डाटा की भी कई कॉपी बना सकते हैं। इसका इस्तेमाल कब किया जा सकता है। जब आपका ओरिजिनल डाटा खत्म हो जाए।

ऐसे समय में बैकअप सभी के लिए बहुत उपयोगी होता है। इसके साथ अगर कोई डेटा को दूसरी जगह से अगर आपको एसेस करना है तो आपके लिए बैकअप तब भी बहुत काम आता है। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताने वाले हैं कि बैकअप क्या होता है, बेकअप कितने प्रकार के होते हैं, बैकअप का कहां प्रयोग किया जाता है, इन सभी के बारे में आपको विस्तार से इस पोस्ट में बताने वाले हैं। इसीलिए अंत तक इस पोस्ट को ध्यानपूर्वक पढ़े

बैकअप क्या होता है?

बैकअप कंप्यूटर मोबाइल लैपटॉप आदि में एक से ज्यादा किसी भी फाइल की कॉपी को करना होता है। जिसको एक अल्टरनेटिव के हिसाब से बनाया जाता है। ताकि किसी भी परिस्थिति में अगर आपका ओरिजिनल डाटा लॉस्ट हो जाता है या फिर unusable हो जाता है।

 उस स्थिति में आप बैकअप के द्वारा अपने पूरे डाटा को रिकवर कर सकते हो। अधिकतर यह सभी डाटा आपको कंप्यूटर के हार्ड ड्राइव में सेव करने होते हैं। क्योंकि बहुत बार ऐसा होता है कि इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में कुछ कमी की वजह से ऐसे टाइम पर हार्ड ड्राइव क्रैश हो जाता है। इसीलिए आप हार्ड ड्राइव पर विश्वास नहीं कर सकते तो बैकअप लेना सही होता है।

उदाहरण के लिए आप मान लीजिए अगर आपके मोबाइल में या कंप्यूटर में आपने कोई अच्छा सा फोटो या वीडियो बनाया है और उसको आपने अपनी मेमोरी में सेव कर दिया है। लेकिन कुछ समय बाद में अगर आपकी मेमोरी खराब हो जाती है तो वह आपका फोटो और वीडियो भी उससे खराब हो जाता है इसीलिए इन सब से बचने के लिए बैकअप का एक फीचर होता है।

 जिसका उपयोग आप एक ही फाइल को अलग-अलग जगह पर सेव कर सकते हो। ताकि कोई भी एक जगह की फाइल अगर खराब हो जाती है,तो उसको दूसरी जगह से वापस से रिकवर कर सकते हो।

बैकअप व कॉपी में क्या अंतर है

बैकअप में आप किसी भी डाटा को इंक्रिप्ट करके सुरक्षित जगह पर स्टोर करके रख सकते हो। ताकि आपको जरूरत पड़ने पर अपने ओरिजिनल डाटा को वापस से सेव कर सके। इसको आप ओपन या एडिट नहीं कर सकते हो। जब की कॉपी करने का मतलब किसी भी फाइल को, फोल्डर डाटा में सेव करके उस की प्रतिलिपि बना देना होता है। कॉपी करने के बाद में पुराने सोर्स को कोई मतलब नहीं होता है। इसके अलावा यह सिक्योर भी नहीं होती है। आप इसे एडिट करके स्टोर डाटा में स्टोर डेटा बदल भी सकते हैं

Backup meaning in हिंदी

बैकअप को हिंदी में भी बैकअप कहते हैं। इसका हिंदी में शुद्ध अर्थ सुरक्षित करना या फिर पहले से ही किसी चीज की तैयारी करना होता है।

बैकअप के प्रकार

बैकअप मुख्य रूप से 11 प्रकार के होते हैं आइए जानते हैं

1.Full backup – फुल बैकअप एक ऐसा तरीका बैकअप लेने का होता है जहां पर आप अपने सभी फाइल और फोल्डर को एक साथ बैकअप लेने के लिए सिलेक्ट कर सकते हो। मुख्य रूप से इनिशियल और फर्स्ट बैकअप के हिसाब से इसको प्रयोग में ले सकते हैं।

2.Incremental backup

इंक्रीमेंटल बैकअप इस तरह का बैकअप होता है जिसमें आप अपनी मर्जी के अनुसार लास्ट बैकअप के बाद जो चेंज करने होते हैं।

3.Defferential Backup

डिफरेंशियल बैकअप हमेशा फुल बैकअप और इंक्रीमेंटल बैकअप के बीच में आता है। डिफरेंशियल बैकअप उस बैकअप को कहते हैं।

4.Mirror backup

मिरर बैकअप ये नाम से एकदम स्पष्ट हो रहा है। इस बैकअप के अंतर्गत आपके डाटा के सोर्स को एक जगह स्टोर किया जाए और वहां पर उसका मिरर की तरह ओरिजिनल इमेज में एक प्रतिबिंब बन जाता है। 

5 Full PC backup

फुल पीसी बैकअप में कंप्यूटर हार्डवेयर ड्राइव के ना केवल इंडिविजुअल फाइल और फोल्डर की ही बल्कि एंट्री इमेज की बैकअप को ले लिया जाता है। 

6.Local backup

लोकल बैकअप में स्टोरेज मीडियम को अपने पास रख लिया जाता है। यहां पर स्टोरेज मीडियम को डायरेक्टली प्लग्ड इन भी कर सकते हैं। 

7. Offsite Backup

इस बैकअप मे  सॉर्स से बैकअप स्टोरेज मीडियम को दूसरे किसी ज्योग्राफिक लोकेशन में रख लिया जाता है। 

8. Online backup

ऑनलाइन बैकअप में ऐसे स्टोरेज मीडियम मैं बैकअप कनेक्ट किया जाता है। जैसा कि ऑनलाइन शब्द से पता चल रहा है कि यह एक ऐसी स्टोरेज डिवाइस है जो हमेशा कनेक्ट ही पाई जाती है।

9.Remote backup

रिमोट बैकअप एक ऐसा फॉर्म है जिसमें offsite backup से थोड़ा ही फर्क होता है जैसे आप बैकअप में एक्सेस, रिस्टोर और administer कर सकते हो। 

10.Cloud backup

क्लाउड बैकअप एक ऐसी होती है जिसमें आप ऑनलाइन और रिमोट बैकअप की जगह इसको प्रयोग में ले सकते हो। इस प्रकार के बैकअप में आप डाटा को एक स्टोर सरवर या फैसिलिटी मे भी बैकअप कर सकते हो।

11.FIT backup

इस बैकअप में एक फाइल ट्रांसफर प्रोटोकॉल के माध्यम से इंटरनेट में एफटीपी सर्वर से ब्रेकअप कर सकते हो। 

Conclusion

आज हमने आपको इस पोस्ट के माध्यम से बैकअप इन हिंदी के बारे में जानकारी प्रदान की है। हमें उम्मीद है कि आपको जो भी हमने बैकअप से रिलेटेड जानकारी इसमें दी है वह जरूर पसंद आई होगी। इसी तरह की जानकारियों के लिए आप हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर किसी भी सुझाव के लिए कमेंट करके बता सकते हैं।

Popular Post

PUBG mobile lite hack download

PUBG mobile lite hack download की पूरी Step-by-Step जानकारी

1
अगर आप इस लेख पर आए है तो हम उम्मीद करते हैं कि आप अब जी के बहुत बड़े फैन होंगे अगर आप चाहते...

Y2Mate YouTube Video Downloader- Download Audio, Video In HD Quality.

0
आज के इस डिजिटल युग मे एक जहाँ सोशल मीडिया ऍप्लिकेशन्स का प्रयोग अधिक प्रचलन में देखा जा रहा हैं, ऐसे में विभिन्न विभिन्न...

My Tools Town- Increase Like & Subscribers.

1
आज के समय मे जिस प्रकार से सोशल मीडिया ऐप्लकैशन पर लाइक व फॉलोवर्स का ट्रेंड बहुत ही तेजी से बढ़ रहा हैं, उसे...

जन सूचना अधिकार अधिनियम – RTI क्या हैं?

2
किसी भी प्रदेश मे बेहतर साशन व प्रसाशन को बनाए रखने के लिए समान अधिकार प्रदान किए जाते हैं। जिसके चलते कोई भी व्यक्ति...

Jio Phone Me Whatsapp Kaise Chalaye?

1
आज के इस आधुनिक युग मे एक जहाँ सोशल मीडिया ऐप्लकैशन का प्रचलन बहुत ही तेजी से चल रहा हैं। उसे देखते हुए हर...