ब्लूटूथ क्या होता है? Bluetooth kya hota hai?

ब्लूटूथ के बारे में आज कौन नहीं जानता सभी लोगों को पता है कि ब्लूटूथ क्या होता है और यह क्या काम करता है, क्योंकि ब्लूटूथ का फीचर अक्सर सभी मोबाइल फोन स्मार्टफोन में मिलता है। ब्लूटूथ का कार्य डाटा ट्रांसफर करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा ब्लूटूथ हमारे जीवन का एक बहुत ही अहम हिस्सा बन गया है। इसके अलावा ऑडियो डिवाइस, होम स्टोरेज, MP3 प्लेयर, लैपटॉप इन सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में आप ब्लूटूथ को देख सकते हैं। आपको हर फीचर के साथ में ब्लूटूथ मिल ही जाएगा।

आज के समय में किसी भी उपकरण के साथ अगर आपको किसी भी प्रकार का डाटा ट्रांसफर करना है। स्मार्टफोन के द्वारा अपने ब्लूटूथ की माध्यम से आसानी से सभी चीजों के साथ पर कर सकते हो, लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बात इसमें यह होती है कि दोनों इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के अंदर ब्लूटूथ की सुविधा होना जरूरी है। आज आपकी जानकारी के लिए बता देते हैं, कि ब्लूटूथ क्या होता है, ब्लूटूथ के माध्यम से क्या ट्रांसफर कर सकते हैं, ब्लूटूथ कितने प्रकार के होते हैं, ब्लूटूथ के फायदे और नुकसान क्या है, आइए जानते हैं.

ब्लूटूथ क्या होता है? Bluetooth kya hota hai?

ब्लूटूथ क्या है?

ब्लूटूथ एक ऐसी वायरलेस टेक्नोलॉजी है इसका उपयोग इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के बीच में सभी प्रकार के डाटा को ट्रांसफर करने के लिए होता है। अगर दूसरे प्रकार के कम्युनिकेशन बोर्ड की बात करें, तो उन सभी की तुलना में ब्लूटूथ के द्वारा सभी डाटा ट्रांसलेशन होने का डिस्टेंस बहुत कम होता है, अर्थात इसका तात्पर्य यह है कि ब्लूटूथ बहुत कम दूरी के भीतर में डाटा को ट्रांसफर कर देता है। ब्लूटूथ में बढ़ती टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से उपयोग करने वालों को किसी भी प्रकार के क्रॉस केबल या अडॉप्टर की आवश्यकता नहीं पड़ती है,क्योंकि यह वायरलेस कम्युनिकेटेड करने की परमिशन देता है।

ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी को डिवेलप ब्लूटूथ स्पेशल इंटरेस्ट ग्रुप में बनाया है। इसकी फिजिकल रेंज 10 मीटर से 50 मीटर तक की होती है। ब्लूटूथ के अंदर कम से कम 7 डिवाइस एक साथ कनेक्ट की जा सकती है

Also Read: फ्लिपकार्ट का मालिक कौन है? Flipkart ka malik kon hai?

ब्लूटूथ की शुरुआत

दोस्तों आप सब की जानकारी के लिए बता दें कि ब्लूटूथ नाम की उत्पत्ति 10 वीं शताब्दी के दानिश किंग जिनका नाम “ब्लूटूथ गोरमस्सोन” ब्लूटूथ की शुरुआत की गई। सन 1996 में ब्लूटूथ को केबल की जगह वायरलेस रिप्लेसमेंट के तौर पर बनाया गया था, क्योंकि ब्लूटूथ दूसरे प्रकार के वायरलेस टेक्नोलॉजी जैसे घर,ऑफिस के प्रयोग में होने के लिए कॉर्डलेस फोन वाईफाई रॉयटर्स की तरह 2.4 GHz फ्रिकवेंसी के अंतर्गत काम करता है।

ब्लूटूथ के उपयोग

ब्लूटूथ का उपयोग मोबाइल डिवाइस नहीं बल्कि कार सिस्टम, प्रिंटर, जीपीएस सिस्टम,वेब कैम्प, इसके अलावा नई नई टेक्नोलॉजी के माउस की बोर्ड आदि में भी किया जाता है।

ब्लूटूथ के लाभ

1. ब्लूटूथ के द्वारा डिवाइस के बीच में बिना किसी तार के सभी प्रकार के डाटा को ट्रांसफर किया जा सकता है।

2. यूट्यूब के द्वारा किसी भी दीवार के आर पार ब्लूटूथ के होने पर डाटा को ट्रांसफर किया जा सकता है।

3. ब्लूटूथ की रेंज इन्फ्रारेड अन्य संचार के साधनों की तुलना में अच्छी होती है।

4.ब्लूटूथ के माध्यम से होने वाला डाटा ट्रांसफर का काम बहुत ही उपयोग होता है क्योंकि इस टेक्नोलॉजी में FHSS का उपयोग किया जाता है।

5. ब्लूटूथ का उपयोग कार सिस्टम स्मार्टफोन प्रिंटर स्पीकर हेडफोन जीपीएस सिस्टम कीबोर्ड आदि में भी किया जाता है।

6. ब्लूटूथ मार्केट में बहुत कम कीमतों के मिलते हैं इसको आसानी से कोई भी व्यक्ति खरीद सकता है।

7. ब्लूटूथ डिवाइस को दूसरे डिवाइस के साथ में प्यार करना बहुत आसान होता है इसको इंस्टॉल करने के लिए किसी भी तरह की कोई सेटअप फाइल की आवश्यकता भी नहीं होती है।

ब्लूटूथ से होने वाले नुकसान

1. ब्लूटूथ  की वाईफाई की तुलना में bandwidth बहुत कम होती है। इससे यह ब्लूटूथ को और भी अधिक लिमिटेड बना देती है।

2. यूट्यूब पर सबसे बड़ा नुकसान उसकी खुद की सिक्योरिटी है।

3.ब्लूटूथ रेडियो फ्रीक्वेंसी पर ऑपरेट करता है इसके माध्यम से यह दीवारों के आर पार भी आसानी से कनेक्ट किया जा सकता है इसीलिए ब्लूटूथ के उपयोग के लिए किसी भी बिजनेस या पर्सनल डाटा ट्रांसफर करने के लिए इसका प्रयोग ना करें।

ब्लूटूथ के प्रकार

आज मार्केट में नए-नए प्रकार के ब्लूटूथ आंखें देखने को मिल सकते हैं आइए जानते हैं ब्लूटूथ कितने प्रकार के होते हैं..

  1. 1. Bluetooth keyboard

2. Bluetooth Headsets

3. Bluetooth stereo headsets

4. Bluetooth Enables webcam

5. Bluetooth GPS Device

6. in-car Bluetooth headset

7.Bluetooth printer

ब्लूटूथ को आज कीबोर्ड के बिना भी किसी भी वायर के कोई भी डिवाइस जैसे लैपटॉप, कंप्यूटर आदि से भी कनेक्ट किया जा सकता है ब्लूटूथ कीबोर्ड को स्मार्टफोन मोबाइल फोन आदि से भी कनेक्ट कर सकते हैं

कैसे करता है काम ब्लूटूथ

आज बदलती हुई टेक्नोलॉजी के मामले में आज पूरी दुनिया बहुत आगे बढ़ चुकी है ऐसे में इन सभी टेक्नोलॉजी ओं को आज इंसान अपना था जा रहा है यह सभी टेक्नोलॉजी के माध्यम से ही आज हम अपने परिवार दोस्तों आदि से भी जुड़े रहते हैं ब्लूटूथ एक ऐसी वायरलेस कनेक्टिविटी स्टैंडर्ड है जिसमें रेडियो सिग्नल का इस्तेमाल किया जाता है। आज ब्लूटूथ सबसे ज्यादा इस्तेमाल करने वाला प्रोटोकॉल बन चुका है। ब्लूटूथ नेटवर्किंग के मामले में लो पावर रेडियो वेव्स के द्वारा सभी प्रकार के डाटा को संचालित करता है। यह 2.45GHz फ्रीक्वेंसी पर काम करता है।

Conclusion

आज हमने आपको इस आर्टिकल के द्वारा ब्लूटूथ क्या है, ब्लूटूथ के बारे में सभी जानकारी इस आर्टिकल के द्वारा दी है। उम्मीद है आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल बहुत पसंद आया होगा। अगर इससे जुड़ी किसी प्रकार की कोई समस्या है या कोई सुझाव जानना चाहते हैं,तो आप हमारे कमेंट सेक्शन से भी जुड़ सकते हैं।

Eassy on Republic Day

Eassy on Republic Day – गणतंत्र दिवस पर निबंध

0
आप हर साल 26 जनवरी को देश के हर ज क झंडे को लहराते देख सकते हैं इस दिन झंडा फहरा कर हम त्यौहार...
nepal ki jansankhya

nepal ki jansankhya – Population of Nepal

1
जैसा कि आप जानते हैं कि नेपाल एक ऐसा देश है जो कि 2 बड़े देश यानी कि भारत और चीन के बीच में...
Duniya me sabse jyada bole jane wali bhasha

Duniya me sabse jyada bole jane wali bhasha – आखिर कौन सी भाषा दुनिया...

0
दोस्तों आप इस बात को तो जानते ही होंगे कि दुनिया के हर क्षेत्र में अलग-अलग भाषाएं बोली जाती है। कहने का मतलब यह...
Bharat ka sabse swaksh seher

Bharat ka sabse swaksh seher – भारत का सबसे साफ और सुंदर शहर कौन सा...

0
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की जिसके बाद भारत में लगभग हर शहर, कस्बा और गांव अपने आप...

सिम पोर्ट कैसे करें? How to port sim?

0
अक्सर देखा जाता है कि लोगों के सामने किसी भी टेलीकॉम कंपनी के द्वारा मिल रही इंटरनेट की सुविधा, कॉलिंग की सुविधा को लेकर...
error: Content is protected !!