How to do SEO? Seo कैसे करे?

जो ब्लॉगर हैं और ब्लागिंग के क्षेत्र में अभी नए हैं उन सभी के लिए seo क्या है, seo कैसे करें या फिर अपने ब्लॉग या वेबसाइट को seo फ्रेंडली किस तरह से बनाया जाए। इस तरह के सवाल उन सभी न्यू ब्लॉगर के मन में आ रहे होंगे। आज अगर कोई भी परेशानी किसी के सामने आती है तो सबसे पहले उसको गूगल पर सर्च करते हैं जैसा कि आप सब जानते हैं। गूगल आज दुनिया का इंटरनेट की दुनिया में सबसे बड़ा सर्च इंजन के रूप में जाना जाता है।

जैसे ही गूगल पर कुछ भी जानकारी सर्च करते हैं तो सबसे पहले हमें बहुत से रिजल्ट दिखाई देते हैं लोगों को तो पहले पेज पर ही उनका जवाब मिल जाता है। जिसकी वजह से पहले पेज पर रहने वाली सभी वेबसाइट और ब्लॉग का रेट बढ़ जाता है और जिससे उससे अच्छा पैसा भी कमा लेती है। अपनी वेबसाइट और ब्लॉग को कुछ इस तरह से बनाएं ताकि वह सर्च इंजन में अच्छी स्थिति पर रैंक कर सकें और ऑर्गेनिक ट्रैफिक को प्राप्त कर सके। 

How to do SEO? Seo कैसे करे?

तो चलिए दोस्तो आज हम आपको seo कैसे किया जाता है seo कैसे काम करता है seo क्या होता है अंखियों से जुड़ी हुई सभी जानकारी विस्तार पूर्वक इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं इसीलिए अंत तक आप अगर ऐसी ओर से जुड़ी हुई किसी भी बात के बारे में जानना चाहते हैं तो इस लेख को अंत तक पढ़े…

Seo क्या है?

Seo का फुल फॉर्म सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन होता है यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें आप अपने ब्लॉग या आर्टिकल को रैंक करवा कर इसको इंप्रूव करा सकते हो। गूगल अपने सर्च रिजल्ट में जब किसी भी इंफॉर्मेशन को सर्च करते हो तो उन लिंक को गूगल डिस्प्ले करता है। जिनकी वह अच्छी क्वालिटी वाले कंटेंट है। गूगल सभी कंटेंट को index ऑर्गनाइज करता है। जैसे ही किसी यूज़र के द्वारा गूगल पर कोई कंटेंट सर्च किया जाता है तो मैं उसको कीवर्ड के आधार पर दिखा देता है।

गूगल और दूसरे सर्च इंजन में कुछ इस तरह के नियम बनाए गए हैं उन नियमों के आधार पर आप जो काम करेंगे उनको seo ही कहा जाता है। इन नियमों के आधार पर ही आप अपनी वेबसाइट पर टै्रफिक बढ़ा सकते हो।

Seo कैसे किया जाता है?

1. यूनिक और अच्छी क्वालिटी के ब्लॉग

यूनिक व अच्छी क्वालिटी वाले आर्टिकल हमेशा लिखने चाहिए हमेशा आर्टिकल लिखने से पहले यह बात ध्यान में जरूर रखनी चाहिए कि आप जो आर्टिकल लिख रहे हो रहे यूजर को पढ़ने में समझ में आना चाहिए आपका आर्टिकल यूजर्स के लिए ही होना चाहिए। क्योंकि आपके ब्लॉक अच्छे होंगे तो यूजर ज्यादा आपकी वेबसाइट विजिट करेंगे और गूगल भी हमेशा अच्छे कंटेंट को ही प्रिफर करता है।

2. टाइटल अट्रैक्टिव होना

आपके ब्लॉग में सबसे महत्वपूर्ण रोल टाइटल का होता है क्योंकि टाइटल से आपकी पोस्ट रैंकिंग में बहुत मदद मिलती है। टाइटल लिखते समय हमेशा आई कैचिंग का ध्यान रखें ताकि ज्यादा से ज्यादा आपको रैंकिंग उसमें मिल सके। टाइटल में टॉप बेस्ट यूनिक इस टाइप से वर्ड यूज में ले या फिर नंबर भी आप ऐड कर सकते हैं और रैंकिंग के लिए टाइटल में कीवर्ड का आना बहुत जरूरी है।

3. ब्लॉग पोस्ट को अच्छे से डिजाइन करना

ब्लॉग को डिजाइन करना बहुत जरूरी होता है क्योंकि बिना और डिजाइन के ब्लॉग सही नहीं लगता है आर्टिकल में सबसे पहले आपको सब हेडिंग का (H2,H3,H4) का प्रॉपर ध्यान रखना होगा और उनमें भी कीवर्ड का सही प्रयोग करें इससे आपका ब्लॉग और भी सुंदर दिखाई देगा। पैराग्राफ हमेशा शार्ट में ही लिखें और कोई भी महत्वपूर्ण पैराग्राफ है उसको block quote में ही लिखना चाहिए। इसके अलावा आर्टिकल में सही जगह alt tag का प्रयोग करें इसके अलावा इमेज का भी जरूर प्रयोग करें।

4.URL permalink 

अपने ब्लॉग में ऐसे परमा लिंक का उपयोग ना करें जिसमें केवल नंबर या date आती हो। अगर आप वर्डप्रेस यूजर हैं तो वहां सेटिंग में जाकर permalink section में यू आर एल पर्मालिंक को बदल सकते हैं। इतना ही नहीं आप आर्टिकल लिखने के बाद में URL को ऑप्टिमाइज भी कर सकते हैं।

5.keyword का सही placement

वही कीवर्ड seo में बहुत अच्छी भूमिका निभाते हैं। आर्टिकल रैंक करने पर कीवर्ड प्लेसमेंट बहुत जरूरी है। हमेशा कोशिश करें कि आर्टिकल में फर्स्ट पैराग्राफ में ही कीवर्ड ऐड कर ले। हैंगिंग टैग पर की वर्ड का प्रयोग करें। इमेज alt पर भी कीवर्ड का प्रयोग कर ले।आर्टिकल के लास्ट में बीच में भी की वर्ड का प्रयोग करें। लेकिन ध्यान रहे कि वर्ड में ही ऐड करें, जहां पर वह ऐड हो सके।आपके कीवर्ड ऐसी जगह पर ऐड करना चाहिए ताकि आर्टिकल की क्वालिटी को इंपैक्ट ना कर सके।

6.meta Tag और डिस्क्रिप्शन लिखे

मेटा टैग डिस्क्रिप्शन वह होते हैं जो आपको वेदर का कभी नजर नहीं आते लेकिन जब कोई यूजर आप के कंटेंट को गूगल पर सर्च करेगा तो SERP में आपको मेटा दिखाई देंगे। इसीलिए आपको अपने हर आर्टिकल में मेटा टैग और डिस्क्रिप्शन जरूर देना चाहिए मुख्य कीवर्ड को आपको मेटा टैग और डिस्क्रिप्शन में जरूर लिखना चाहिए इससे वह हाईलाइट होते हैं और गूगल गूगल पर भी आपकी पोस्ट धीरे-धीरे से रैंक करने लगती है।

7. इंटरनल रिलेटेड लिंक बनाये

इंटरनल लिंक से तात्पर्य यह होता है कि आपके ब्लॉग के एक पेज पर दूसरे पेज का लिंक देना ही इंटरनल लिंकन आता है जब आप एक आर्टिकल लिखते हो उस आर्टिकल में ऐसे कीवर्ड आ जाते हैं जिसके बारे में जानकारी देने से आपके ब्लॉग पर पहले से ही आप इसे लिंक कर सके।इंटरनल लिंक बहुत हद तक ब्लॉग रैंकिंग में हेल्प करते हैं एवं यह इंटरनल लिंकिंग में ही मदद नहीं करते बल्कि 1 सप्ताह के अंदर आपके ब्लॉग के कीवर्ड को गूगल पर रैंक भी करवा देते हैं सही तरीके का इंटरलिंक बैकलिंग की तरह ही काम करता है।

Conclusion

आज हमने इस पोस्ट के माध्यम से आप सभी को ” SEO कैसे करें” इसके बारे में जानकारी प्रदान की है। हमें उम्मीद है कि आपको जो भी जानकारी इस लेख में हमें बतायी है वह आपको जरूर पसंद आई होगी । इसी तरह के लेख से जुड़े रहने के लिए आप हमारी वेबसाइट पर कंटिन्यू विजिट कर सकते हैं और यह पोस्ट पसंद आए तो कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट करके जरूर बताएं।

Popular Post

PUBG mobile lite hack download

PUBG mobile lite hack download की पूरी Step-by-Step जानकारी

1
अगर आप इस लेख पर आए है तो हम उम्मीद करते हैं कि आप अब जी के बहुत बड़े फैन होंगे अगर आप चाहते...

Y2Mate YouTube Video Downloader- Download Audio, Video In HD Quality.

0
आज के इस डिजिटल युग मे एक जहाँ सोशल मीडिया ऍप्लिकेशन्स का प्रयोग अधिक प्रचलन में देखा जा रहा हैं, ऐसे में विभिन्न विभिन्न...

My Tools Town- Increase Like & Subscribers.

1
आज के समय मे जिस प्रकार से सोशल मीडिया ऐप्लकैशन पर लाइक व फॉलोवर्स का ट्रेंड बहुत ही तेजी से बढ़ रहा हैं, उसे...

जन सूचना अधिकार अधिनियम – RTI क्या हैं?

2
किसी भी प्रदेश मे बेहतर साशन व प्रसाशन को बनाए रखने के लिए समान अधिकार प्रदान किए जाते हैं। जिसके चलते कोई भी व्यक्ति...
kalyan chart

kalyan chart – कल्याण चार्ट की पूरी जानकारी

0
क्या आप बिल्कुल कम समय में अमीर बनना चाहते हैं? अगर हां तो आप इस वक्त बिलकुल सही जगह पर है। हम यह नहीं...