HTML क्या है? HTML kya hai ?

आज दुनियाभर में ऐसा कौन इंसान है जिसको पैसा कमाना अच्छा नहीं लगता है। सभी लोग चाहते हैं कि अधिक से अधिक पैसा कमाए और अपनी जरूरतों को पूरा कर सके अपने हर सपने को पूरा कर सके। आज इस दुनिया में करोड़ों अरबों लोग रहते हैं, सभी अलग-अलग तरह के काम करते हैं कोई अपना व्यापार करता है,किसी के अपनी खुद की कंपनी है, या फिर कोई नौकरी करता है। काम चाहे छोटा हो या बड़ा हर काम में मेहनत और लगन से व्यक्ति करता है, तो उसमें उसको सफलता अवश्य मिलती है। उसी प्रकार से एक ब्लॉगर होता है, वह अपने नए नए ब्लॉग लिखकर इंटरनेट के जरिए मेहनत करके पैसा कमाता है।

HTML क्या है? HTML kya hai ?

ब्लॉगिंग की शुरुआत करने के लिए सबसे अहम चीज उसमें वेबसाइट की होती है। वेबसाइट को बनाना वेबसाइट बनाने के लिए किस किस चीज की आवश्यकता पड़ती है। इसीलिए एचटीएमएल का ज्ञान होना बहुत जरूरी होता है ब्लॉगिंग के इस दुनिया में अगर व्यक्ति को सफलता चाहिए तो एक ब्लॉगर को एचटीएमएल की जानकारी होना बहुत जरूरी है। आज हम इस लेख के माध्यम से आपको बताएंगे एचटीएमएल की क्या विशेषता होती है और एचटीएमएल को वेबपेज या वेबसाइट बनाने के लिए किस तरह से काम में लिया जाता है आइए जानते हैं एचटीएमएल इन हिंदी के बारे में

क्या होता है HTML

एचटीएमएल 1 मार्कअप लैंग्वेज होती है इसको हाइपर टेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज कहा जाता है इसका प्रयोग हमेशा वेब पेज या वेबसाइट बनाने के लिए किया जाता है एचटीएमएल लैंग्वेज का यूज करके ही हम वेब ब्राउज़र को समझते है। एचटीएमएल को सही शब्दों में परिभाषित करने के लिए आपको निम्न तरीके से जानकारी दे रहे हैं

1 हाइपर टैक्स यह टेक्स होता है इसमें किसी अन्य वेब पेज का लिंक हमेशा मौजूद रहता है जब भी कोई यूजर उस टैक्स के ऊपर क्लिक करता है तो वह उस वेबपेज पर पहुंच जाता है वेब पेज में मौजूद जो टैक्स उसमें होता है वही हाइपरटेक्स कहलाते हैं।

2. मार्क आप लैंग्वेज में किसी वेबपेज के ट्रैक्टर को बनाने के लिए काम में आती है उदाहरण के लिए अगर आप एक वेब पेज बनाने के लिए पैराग्राफ हेडिंग टेबल बुलेट प्वाइंट आदि को क्रिएट कर सकते हैं इसके अलावा इमेज वीडियो को भी ऐड कर सकते हैं। Also Read: Gram Panchayat Ki Voter List Kaise Nikale?

HTML full form in english

एचटीएमएल का इंग्लिश में फुल फॉर्म हाइपर टेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज होता है।

H – Hyper

T – tax

M – markup

L – language

हाइपरटेक्स का अर्थ

हाइपरटेक वह होता है, जिसमें वेब को एक्स्प्लोर किया जाता है। यह सामान्य टैक्स के रूप में होता है, लेकिन हाइपरटेक्स्ट अपने साथ किसी अन्य टेक्स्ट को भी हमेशा जोड़े रखता है। माउस पर जैसे ही क्लिक करते हैं टेप से दबाकर उसको सेव कर लिया जाता है।

Markup का अर्थ

एचटीएमएल में सभी प्रकार के वेब डॉक्यूमेंट बनाने के लिए एचटीएमएल टैग का भी उपयोग किया जाता है। सभी एचटीएमएल टैग अपने आने वाले टेक्स्ट को किसी भी प्रकार से एक्सप्लेन कर सकता है। इसी को ही मार्कअप कहा जाता है। एक एचटीएमएल टैग जो अपने बीच आने वाले सभी टैक्स को तिरछा अर्थात इटैलिक कर देता है।

लैंग्वेज – एचटीएमएल में यह एक भाषा होती है,क्योंकि सभी वेब डॉक्यूमेंट को बनाने के लिए कोड वर्ड के इस्तेमाल करने के लिए ली जाती है। उनको टैग कहा जाता है। टैग को लिखने के लिए एचटीएमएल का सिंटेक्स भी होता है। 

HTML का इतिहास

सन 1980 में CERN के ठेकेदार फिजिसिस्ट व टिम बेर्नर ली के द्वारा CERN रिसर्च के डॉक्यूमेंट में उपयोग करने और शेयर करने के लिए एक सिस्टम का प्रस्ताव दिया गया था। 1989 में टिम बेर्नर्स के द्वारा इंटरनेट बेस्ट हाइपरटेक सिस्टम का प्रस्ताव देने के लिए एक डेमो लिखा गया। एचटीएमएल का जनक टिम बेर्नर्स को ही माना जाता है। सबसे पहले एचटीएमएल का डिस्क्रिप्शन डॉक्यूमेंट था जिसको एचटीएमएल टैग भी कहा गया। टीम वेनेर्ड ली के द्वारा एचटीएमएल को इंटरनेट पर 1991 में पूरी तरह से मेंशन किया गया था।

HTML के कौन से फीचर्स है?

HTML के बहुत सारे कॉमन फीचर्स होते हैं आइए आपको एक एक फीचर्स के बारे में बताते हैं- 

1. यह एक बहुत ही आसान और साधारण भाषा है, इसको आसानी से समझ सकते हैं और मॉडिफाई भी कर सकते हैं।

2. यह एक इंडिपेंडेंट लैंग्वेज वाला प्लेटफार्म है। यह किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम में ओपन करके रन भी कराया जा सकता है।

3. एचटीएमएल प्रोग्रामर को वेब पेज पर ग्राफिक्स वीडियो ऑडियो इमेज आदि ऐड करके वापिस को अट्रैक्टिव बनाने की फैसिलिटी भी प्रदान करता है।

4. यह प्रोग्रामर को लिंक ऐड करने की फैसिलिटी प्रोवाइड करता है और आसानी से एक पेड़ से दूसरे पेज पर भी आ जा सकते हैं।

5. एचटीएमएल केस सेंसेटिव लैंग्वेज में नहीं होता है मतलब इसमें आप कैपिटल लेटर या स्मॉल लेटर में टाइप कर के नहीं लिख सकते हैं। यह सामान्य स्माल लेटर में ही लिखा जाता है। इसमें कुछ कोड केस सेंसेटिव होते हैं जैसे 

HTML का उपयोग

एचटीएमएल का उपयोग वेब डिजाइनिंग और वेबसाइट डिजाइनिंग के लिए होता है। प्रोग्रामर को वेब पेज पर ग्राफिक्स, वीडियो,ऑडियो, पिक्चर आदि ऐड करने के लिए और वेब पेज को अट्रैक्टिव बनाने की फैसिलिटी प्रदान करता है। इसका प्रयोग सभी प्रकार के डॉक्यूमेंट बनाने के लिए भी किया जाता है।

Conclusion

आज हमने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको एच टी एम एल ए की फुल फॉर्म के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की है। आशा करते हैं आपको यह सब जानकारी पसंद आई होगी। इससे और अधिक जानकारी के लिए आप हमारी वेबसाइट से भी जुड़े रह सकते हैं या फिर कमेंट करके भी पूछ सकते हैं।

Eassy on Republic Day

Eassy on Republic Day – गणतंत्र दिवस पर निबंध

0
आप हर साल 26 जनवरी को देश के हर ज क झंडे को लहराते देख सकते हैं इस दिन झंडा फहरा कर हम त्यौहार...
nepal ki jansankhya

nepal ki jansankhya – Population of Nepal

1
जैसा कि आप जानते हैं कि नेपाल एक ऐसा देश है जो कि 2 बड़े देश यानी कि भारत और चीन के बीच में...
Duniya me sabse jyada bole jane wali bhasha

Duniya me sabse jyada bole jane wali bhasha – आखिर कौन सी भाषा दुनिया...

0
दोस्तों आप इस बात को तो जानते ही होंगे कि दुनिया के हर क्षेत्र में अलग-अलग भाषाएं बोली जाती है। कहने का मतलब यह...
Bharat ka sabse swaksh seher

Bharat ka sabse swaksh seher – भारत का सबसे साफ और सुंदर शहर कौन सा...

0
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की जिसके बाद भारत में लगभग हर शहर, कस्बा और गांव अपने आप...

सिम पोर्ट कैसे करें? How to port sim?

0
अक्सर देखा जाता है कि लोगों के सामने किसी भी टेलीकॉम कंपनी के द्वारा मिल रही इंटरनेट की सुविधा, कॉलिंग की सुविधा को लेकर...
error: Content is protected !!