आईएएस का फुल फॉर्म क्या होता है? IAS ka full form kya hota hai?

हेलो दोस्तों क्या आप जानते हैं, आईएस का फुल फॉर्म क्या होता है? आज हमारे देश के सभी नौजवानों का कुछ ना कुछ सपना होता है।ऐसे में बहुत से लोग ऐसे भी होते हैं जिनको सरकारी नॉकरी कर के देश सेवा के कार्य करना बहुत अच्छा लगता है। कुछ विद्यार्थी आईएएस बनकर देश सेवा करना चाहते हैं।

क्या आप जानते हैं आईएएस की हमारे समाज में क्या भूमिका है, आईएएस के क्या-क्या काम होते हैं, आईएएस से संबंधित जो भी बेसिक इनफार्मेशन होती है, उन सभी के बारे में आप क्या जानते हैं? इन सभी आईएएस से संबंधित जानकारियों के बारे में आप सभी को जानना बेहद जरूरी है, क्योंकि इन सभी जानकारियों के बारे में आप एक कभी भी कोई भी किसी भी समय पूछ सकता है, तो ये सब जानकारी हमारे देश के हर व्यक्ति के लिए जानना बहुत जरूरी है। चलो आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से आईएएस का फुल फॉर्म क्या होता है, आईएएस फुल फॉर्म इन हिंदी आदि के बारे में बताते हैं.

आईएएस का फुल फॉर्म क्या होता है / IAS ka full form kya hota hai?

क्या होता है IAS ?

सबसे पहले आज हम आपको बता दें कि आईएस आखिर होता क्या है? दोस्तों आईएएस एक प्रशासनिक सेवा का काम होता है।इसको हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा भी कहा जाता है। इसके अंतर्गत हर राज्य के जिले में एक कलेक्टर बनाया जाता है। जिसको हिंदी में डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट भी कहते हैं। डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर पूरे जिले का प्रशासनिक अधिकारी होता है। इसको कम शब्दों में कहें तो डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट को “डीएम” भी कहा जाता है। हर जिले में आईएएस अधिकारी के साथ आईपीएस अधिकारी को भी काम करना पड़ता है। हमारे देश के सभी राज्यों के जिले में सबसे अधिकारी आईएएस डिस्टिक मजिस्ट्रेट ही होते हैं।

Also Read: Caller tune कैसे हटाए? caller tune kaise hataye?

क्या है आईएएस ( IAS ) का फुल फॉर्म

आईएएस का फुल फॉर्म इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस होता है प्रतिवर्ष सरकार के द्वारा यूपीएससी की परीक्षा लगभग 24 सेवाओं के लिए आयोजित की जाती है। इनमें परीक्षा का क्रम  आईएएस, आईपीएस, आईआरएस आदि होती है। यूपीएससी में आईएएस परीक्षा को पास करने के बाद कि व्यक्ति को किसी राज्य का डिस्टिक मजिस्ट्रेट बना दिया जाता है।

  • I – indian ( इंडियन )
  • A – administrative( एडमिनिस्ट्रेटिव)
  • S – service ( सर्विस)

क्या है आईएएस का फुल फॉर्म हिंदी में

आईएएस का फुल फॉर्म हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा होता है। यह हमारे देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक परीक्षा है। आईएएस का पद ऐसा होता है, इसमें हर जिले की सरकारी पावर की चाबी एक आईएएस अधिकारी के पास में होती है।

आई ( I ) – भारतीय ( indian)

ए ( A ) – प्रसाशनिक ( administrative)

एस ( S ) – सेवा ( service )

आईएएस कैसे बनते है?

अगर आप प्रशासनिक सेवा में रुचि रखते हैं। इसके लिए आपको आईएएस बनने के लिए कड़ी मेहनत और लगन से पूरी तैयारी करनी होगी, और उसके तीन चरणों को पार करने के बाद ही आप एक बेहतरीन अच्छे आईएएस ऑफिसर कर सकते हो। आइए जानते है आईएएस बनने के लिए क्या-क्या करना पड़ता है..

आईएएस बनने के लिए जरूरी योग्यता

आईएएस बनने के लिए निम्न योग्यताओं का होना जरूरी है

1. शिक्षा – आईएएस की तैयारी करने के लिए सबसे पहले किसी भी विषय से ग्रेजुएशन कंप्लीट होना चाहिए।उसके बाद ही आप आईएएस के एंट्रेंस एग्जाम में बैठ सकते हैं।

2. राष्ट्रीयता – आईएएस के पद के लिए सबसे जरूरी भारत का नागरिक होना है।

3. आयु – हमारे देश में अलग-अलग कैटेगरी के लिए अलग-अलग आयु सीमा निर्धारित की गई है जनरल कैटेगरी के लिए 32 वर्ष,ओबीसी के लिए 35 वर्ष, एससी एसटी के लिए 37 वर्ष।

आईएएस बनने के लिए तैयारी

आईएएस बनने के लिए इसके तीन चरण को पार करना पड़ता है। सबसे पहले इसके लिए प्री एग्जाम देना पड़ता है। उसमें अच्छे अंको से पास होने के बाद में आपको आईएएस के मेन एग्जाम के लिए बहुत तैयारी करनी पड़ती है, और अच्छी रैंक लाकर ही आप आईएएस बनने के योग हो सकते हो इसके लिए कम से कम 100 से अधिक के रेंक का होना बहुत जरूरी है। लास्ट में इंटरव्यू के लिए आपको और कड़ी मेहनत करनी होगी। वहां सेलेक्ट होने के बाद ही आप एक अच्छे आईएएस ऑफिसर नियुक्त हो सकते हो।

IAS ka full form in English

Ias full form in english indian administrative service.

  • I – indian
  • A – administrative
  • S – service

आईएएस अधिकारी को मिलने वाली सुविधाएं

एक आईएएस अधिकारी को सभी प्रकार की सरकारी सुख सुविधाएं मिलती हैं, रहने के लिए एक बंगला, गाड़ी, सिक्योरिटी गार्ड उसकी सुरक्षा के लिए ,आईपीएस अधिकारी के लिए कुक व नौकर आदि सभी सुख सुविधाएं दी जाती हैं।

एक आईएएस अधिकारी के कार्य

आईएएस अधिकारी के द्वारा सबसे महत्वपूर्ण का उसके जिले की हर परेशानी को दूर करना होता है। जो भी व्यक्ति सिविल सेवा की परीक्षा में टॉप रैंक हासिल करता है,उसी को आइएएस बनाया जाता है। आईएएस अधिकारी संसद में बनने वाले कानून को अपने जिले में सुचारु रुप से लागू करवाते हैं। इसके साथ ही नई नई नीतियां या फिर नए कानून बनाने में भी वह अहम भूमिका निभाते हैं।

आईएएस अधिकारी को मिलने वाले पद

एक आईएएस अधिकारी को मिलने वाले मुख्य पद निम्न है

  • जिला कलेक्टर
  • आयुक्त
  • मुख्य सचिव
  • सार्वजनिक क्षेत्रों की इकाइयों के प्रमुख
  • चुनाव आयुक्त
  • कैबिनेट सचिव
  • अंडर कैबिनेट सेक्रेटरी

आज हमने इस आर्टिकल के द्वारा आपको आईएएस का फुल फॉर्म क्या होता है। इसके बारे में संपूर्ण जानकारी दी है। उम्मीद है आपको यह सब जानकारी पसंद आई होगी। इससे जुड़ी किसी अन्य प्रकार की जानकारी के लिए आप हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Popular Post

PUBG mobile lite hack download

PUBG mobile lite hack download की पूरी Step-by-Step जानकारी

1
अगर आप इस लेख पर आए है तो हम उम्मीद करते हैं कि आप अब जी के बहुत बड़े फैन होंगे अगर आप चाहते...

Y2Mate YouTube Video Downloader- Download Audio, Video In HD Quality.

0
आज के इस डिजिटल युग मे एक जहाँ सोशल मीडिया ऍप्लिकेशन्स का प्रयोग अधिक प्रचलन में देखा जा रहा हैं, ऐसे में विभिन्न विभिन्न...

My Tools Town- Increase Like & Subscribers.

1
आज के समय मे जिस प्रकार से सोशल मीडिया ऐप्लकैशन पर लाइक व फॉलोवर्स का ट्रेंड बहुत ही तेजी से बढ़ रहा हैं, उसे...

जन सूचना अधिकार अधिनियम – RTI क्या हैं?

2
किसी भी प्रदेश मे बेहतर साशन व प्रसाशन को बनाए रखने के लिए समान अधिकार प्रदान किए जाते हैं। जिसके चलते कोई भी व्यक्ति...
kalyan chart

kalyan chart – कल्याण चार्ट की पूरी जानकारी

0
क्या आप बिल्कुल कम समय में अमीर बनना चाहते हैं? अगर हां तो आप इस वक्त बिलकुल सही जगह पर है। हम यह नहीं...