IPS का फुल फॉर्म इन हिंदी ? IPS full form in hindi?

भारतीय पुलिस सेवा भारत सरकार की प्रमुख पुलिस सेवाओं में से एक मानी गयी है। इसको बस पुलिस सेवा के रूप में भी जाना गया है सबसे पहले भारतीय पुलिस बस सेवा की स्थापना सन् 1948 में की गई थी। उस समय में हमारे देश में बहुत ही नामी आईपीएस अधिकारी हुआ करते थे जिन्होंने देश की सेवा में बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान दिया है और बहुत ही कठोर प्रयास देश सेवा के लिए किए हैं.

आज हम आपको इस आर्टिकल के द्वारा आईपीएस फुल फॉर्म इन हिंदी के बारे में जानकारी देंगे इसके अलावा आईपीएस क्या होता है आईपीएस के क्या कार्य होते हैं भारत के प्रमुख आईपीएस, इसके अलावा आईपीएस की तैयारी के लिए क्या-क्या करना पड़ता है किस तरह से आईपीएस बनना पड़ता है आइए जानते हैं आईपीएस फुल फॉर्म इन हिंदी के बारे में विस्तार से जानकारी..

IPS का फुल फॉर्म इन हिंदी ? IPS full form in hindi?

आईपीएस ( IPS) क्या है?

आईपीएस एक पुलिस विभाग का अधिकारी पद होता है जो कि सभी पुलिस अधिकारियों में सबसे प्रमुख पद के रूप में जाना जाता है। यह पद बहुत ही सम्मानित और प्रतिष्ठा का पद माना गया है भारतीय पुलिस सेवा अर्थात आईपीएस भारत की 3 प्रमुख बड़ी नागरिक सेवाओं में से एक होती है यह प्रमुख सेवाएं आईएएस, आईपीएस, आईएफएस होती है।

भारत में इसकी स्थापना सन 1948 में की गई थी जब हमारा देश अंग्रेजों के चंगुल से आजाद हो चुका था।सर्वप्रथम हमारे देश में पहली बार सन 1948 में भारतीय पुलिस सेवा ने भारतीय साहिब पुलिस के पद का स्थान ग्रहण किया था। उसके बाद गृह मंत्रालय के द्वारा आईपीएस अधिकारियों के टेंडर को भी नियंत्रित किया जाता है। आईपीएस के लिए एक अखिल भारतीय सेवा के अंतर्गत एक सिविल सेवा मानी जाती है। आईपीएस बनना आसान नहीं होता है। इसके लिए बहुत मेहनत लगन और धैर्य की जरूरत होती है। एक आईपीएस अधिकारी को हमेशा देश का कानून और लोगों में अपने विश्वास लेकर बहुत ही सजग व जागरूक रहना पड़ता है।

कब व कैसे IPS की शुरूआत हुई?

आईपीएस की शुरुआत सन 1861 में ब्रिटिश राज्य में ही हो चुकी थी। इसका नाम पहले इंडियन इंपीरियल पुलिस हुआ करता था, लेकिन अंग्रेजों के चंगुल से सन 1947 में जब भारत को आजादी मिली थी। उसके बाद में इसका नाम भारतीय इम्पीरियल पुलिस के नाम से बदलकर इंडियन पुलिस सर्विस अर्थात भारतीय पुलिस सेवा कर दिया गया था। Also Read: स्नैपचैट क्या है? What is Snapchat? Download Snapchat

जिस समय हमारे देश में अंग्रेजों का शासन काल हुआ करता था।तब अंग्रेजी पुलिस के द्वारा व्यवस्था को बनाए रखने के लिए इंडियन इंटीरियर पुलिस की नींव रखी गई थी। इसकी सबसे ऊंची पोस्ट को इंस्पेक्टर कहा जाता था, क्योंकि अंग्रेजी शासन काल था,तो सिर्फ अंग्रेजी उस में भर्ती हुआ करते थे, लेकिन सन1920 में इस सर्विस में भारतीयों को भी भर्ती किया जाने लगा, इसके लिए एग्जाम का भी आयोजन किया जाता था। आईपीएस की हमारे देश में स्थापना भारतीय संविधान अनुच्छेद 312(2) के भाग 14 के अंतर्गत आईपीएस की स्थापना की गई थी।

IPS फुल फॉर्म इन हिंदी

आईपीएस का फुल फॉर्म इंडियन पुलिस सर्विस होता है। इसको हिंदी में “भारतीय पुलिस सेवा” के नाम से भी लोग जानते हैं। आईपीएस ऑफिसर का कार्य देश में सही तरीके से कानून व्यवस्था को बनाए रखना तथा देश में होने वाले किसी भी प्रकार के क्राइम को पूरी तरह से कंट्रोल में करना होता है। इसके अलावा अपने क्षेत्र में शांतिपूर्ण माहौल बनाए रखने की जिम्मेदारी भी एक आईपीएस ऑफिसर के ही कंधे होती है। क्योंकि यह पद बहुत ही जिम्मेदारी भरा है।

I – indian ( भारतीय )

P – police ( पुलिस)

S – service ( सेवा)

आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए योग्यता

एक आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए कम से कम ग्रेजुएट होना जरूरी होता है। उसके बाद यूपीएससी एग्जाम देने के लिए उम्मीदवार को ग्रेजुएशन पास होना जरूरी होता है। आईपीएस अधिकारी बनने के लिए यूपीएससी का पेपर भी पास करना पड़ता है। इसके अलावा आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए उम्मीदवार की उम्र 21 से 27 वर्ष की होनी चाहिए। यूपीएससी की परीक्षा देने के लिए जनरल कैटेगरी के लोग 6 साल तक इस परीक्षा को दे सकते हैं। एससी, एसटी वर्ग के लोग 9 साल तक इस परीक्षा को दे सकते हैं।

आईपीएस ऑफिसर कैसे बनते हैं?

आईपीएस ऑफिसर बनने के लिए हमारे देश में समय-समय पर IRS, IFS, IAS, और यूपीएससी जैसे विभिन्न प्रकार की सिविल सर्विसेज एग्जाम देश में आयोजित किए जाते हैं। अगर आपने भी आईपीएस ऑफिसर बनने का हौसला है, तो इसके लिए आपको तीन परीक्षाओं को पास करके आगे बढ़ना होगा। उसके बाद आप एक आईपीएस ऑफिसर बन सकते हैं। सबसे पहले आपको प्रारंभिक( preliminary) 2nd नम्बर पर मैन एग्जाम ओर अंत मे इंटरव्यू देना होता है। अगर आप किसी तरह से अपना इंटरव्यू क्लियर कर लेते हैं, तो आपको ऑल इंडिया में रैंक दिया जाता है और रैंक के बाद ही आपको आईएएस के लिए पोस्ट दे दी जाती है।

आईपीएस(IPS) ऑफिसर के कार्य

आईपीएस अधिकारी इंडियन पुलिस सर्विस के अंतर्गत कानून व्यवस्था को बनाए रखने में और उसको सही तरीके से काम करने में पूरी जनता की सेवा करता है। आईपीएस ऑफिसर को SP से लेकर DIG, IG और DGP के रूप में भी प्रमोशन मिल जाता है। आईपीएस ऑफिसर अपने कार्य क्षेत्र में कानून को सही तरीके से लागू करने का काम भी करता है। इसके लिए सबसे पहले इनको ट्रेनिंग से गुजरना पड़ता है। ट्रेनिंग के बाद ही एक आईपीएस ऑफिसर पूरी तरीके से सही कार्य करने के लिए तैयार हो जाता है।

Conclusion

आज हमने इस आर्टिकल के द्वारा आप सभी को “आईपीएस फुल फॉर्म इन हिंदी” के बारे में जानकारी दी है।उम्मीद है आपको यह सब जानकारी पसंद आई होगी। आप इस तरह की किसी भी प्रकार के अन्य जानकारी के लिए आप हमारी वेबसाइट से जुड़े रह सकते हैं या फिर आप कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट करके भी पूछ सकते हैं।

Jio Phone Me Play Store Kaise Chalaye? – HindiKalam

1
Jio Phone Me Play Store Kaise Chalaye? : हेलो दोस्तो आप सभी आर्टिकल का टाइटल पढ़कर समझ गए होंगे की, आज के आर्टिकल में...

Paypal Account Kaise Banaye? in 2021 – HindiKalam

3
Paypal Account Kaise Banaye? in 2021 : हेलो दोस्तो कैसे है आप सभी हम उम्मीद करते है की आप सभी ठीक होंगे। आज हम...

लव का फुल फॉर्म क्या होता है? Love ka full form kya hota hai?

1
हेलो दोस्तों क्या आप जानते हैं लव का फुल फॉर्म क्या होता है। लव प्यार,दोस्ती, भावना को कहा जाता है। प्यार एक ऐसा  ऐसा...

Free fire का बाप कौन है? Free Fire ka baap kaun hai 2021?

1
Free Fire ka Baap kaun hai? वैसे तो हर गेम अपने आप में महान होता है लेकिन लोगो को कुछ अच्छा देखने के लिए...

वर्क शीट क्या होती है What is a Worksheet?

2
आज के तकनीकी विज्ञान से भरे युग में सभी कार्य कंप्यूटर पर किए जाते हैं.। ऐसे में बहुत ही ऐसी कंप्यूटर एप्लीकेशंस होती है...
error: Content is protected !!