मोबाइल का आविष्कार किसने किया? Who invented mobile?

आज मोबाइल फोन संपूर्ण विश्व में रह रहे सभी लोगों की जरूरत सी बन चुका है। इसके बिना किसी भी कार्य को करना असंभव सा होता है मोबाइल फोन के बिना तो व्यक्ति आज घर से बाहर निकलने के बारे में भी नहीं सोच सकते हैं आज मोबाइल फोन के आविष्कार ने व्यक्ति को पॉजिटिव नेगेटिव तरीके से दुनिया को बहुत ही छोटा और आसान सा बना दिया है।

आज अगर आपके पास में एक अच्छा मोबाइल लिया स्मार्टफोन है उसमें इंटरनेट कनेक्शन है तो आप पूरी दुनिया की किसी भी प्रकार की जानकारी से उससे जुड़े रहते हैं इसके अलावा अपने दोस्त रिश्तेदार आदि से भी अपने स्मार्टफोन या मोबाइल फोन से कॉल एसएमएस आदि के द्वारा जुड़े रहते हैं इसके अलावा व्यक्ति अपने मोबाइल फोन में इंटरनेट के द्वारा सोशल मीडिया के प्लेटफार्म को भी उपयोग में लेता है।

आज हम इस आर्टिकल के द्वारा आप सभी को मोबाइल फोन का आविष्कार किसने किया। इसके बारे में जानकारी देंगे।इसके अलावा मोबाइल फोन के फायदे नुकसान इसका उपयोग इन सभी के बारे में भी बताने जा रहे है।

मोबाइल का आविष्कार किसने किया? Who invented mobile?

मोबाइल फोन है क्या?

मोबाइल फोन एक ऐसा डिवाइस होता है जिसके द्वारा दो व्यक्ति आपस में किसी भी स्थान पर अलग अलग बैठे हो वहा पर ये आसानी से वीडियो कॉल या सामान्य कॉल पर बात कर सकते हैं अगर कोई व्यक्ति विदेश में बैठा हो तब भी वह आसानी से मोबाइल फोन स्मार्टफोन के द्वारा बात कर सकता है इस स्मार्टफोन आज मजार में कई प्रकार के देखने को मिलते हैं।

मोबाइल फोन में भी टेलीफोन की तरह एक कम्युनिकेशन डिवाइस होता है जिसके द्वारा आसानी से कोई भी व्यक्ति दूसरे व्यक्ति से बात कर सकता है मोबाइल फोन के अंदर किसी भी व्यक्ति की आवाज को मानवी आवाज में इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल के द्वारा कन्वर्ट किया जाता है जो के बलिया इलेक्ट्रोमैग्नेटिक तरंग से दूसरे व्यक्ति के पास में पहुंचा देती है।

मोबाइल फोन का आविष्कार

मोबाइल फोन का आविष्कार पहली बार 3 अप्रैल सन 1973 को मार्टिन कूपर के द्वारा किया गया था। उस समय मार्टिन मोटरोला कंपनी के एक शोधकर्ता और कार्यकारी के पद पर थे। माटी ने पहली बार मोबाइल फोन का उपयोग अपने एक प्रतिद्वंदी बेले लेबोरेटरी के इंजीनियर डॉ. जोएल एस एंजल को किया था। मार्टिन कूपर के द्वारा बनाए गए इस फोन का नाम मोटरोला Dynatac  रखा गया। विश्व का सबसे पहला मोबाइल फोन सामान्य रूप में नहीं था। बल्कि वह एक ईंट के समान आकार और वजन का था।

इस मोबाइल की लंबाई 9 इंच और वजन 1.1 kg था। यह मोबाइल फोन सेल्यूलर नेटवर्क तकनीक पर कार्य करता था। इस मोबाइल फोन की खासियत यह होती थी कि एक बार इसको फुल चार्ज करने के बाद में 30 मिनट तक आसानी से इससे बात की जा सकती थी। लेकिन इसको चार्ज करने में 10 घंटे का समय लगता था। मोबाइल फोन में बहुत सी कमियां थी जिनमें समय के साथ में धीरे-धीरे बदलाव किया गया।

इसी बीच में सेल्यूलर के नेटवर्क को और भी ज्यादा स्ट्रांग बनाया गया उसके बाद सन् 1983 में लोगों के लिए मार्केट में मोटोरोला Dyna TAC 8000x नया मोबाईल फोन लाया गया। उस समय इस फोन की कीमत3995 (आज की कीमत के हिसाब से ₹200000 से भी अधिक) की हुआ करती थी। Also Read: वेब ब्राउज़र क्या होता है? What is Web browser?

मोबाइल फोन का फुल फॉर्म

मोबाइल फोन का फुल फॉर्म हिंदी में मॉडिफाई ऑपरेशन वाइट इंटीग्रेशन लिमिटेड एनर्जी होता है।

M – मॉडिफाई

O – ऑपरेशन

B – बाइट

I – इंटीग्रेशन

L- लिमिटेड

E – एनर्जी

आज के समय में मोबाइल फोन एक ऐसा डिवाइस है। जिससे व्यक्ति की हर जरूरत पूरी हो जाती है मोबाइल फोन में कैलेंडर,केलकुलेटर, अखबार की खबरें, कॉलिंग, ऑनलाइन शॉपिंग, ऑनलाइन मीटिंग, ऑनलाइन क्लासेस बहुत सी ऐसी एप्लीकेशन होती है, आपके द्वारा आप किसी भी तरह के कार्य कर सकते हो अभी नहीं आप इंटरनेट के माध्यम से ऑनलाइन पोर्टल से भी कमाई कर सकते हो।

कब आया भारत में पहली बार मोबाइल फोन

हमारे देश में पहली बार मोबाइल फोन का आगमन 31 जुलाई 1995 को हुआ था। पहली बार मोबाइल फोन के माध्यम से बात भारत के केंद्रीय दूरसंचार मंत्री श्री सुखराम ने जुलाई 1995 को पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ज्योति बसु से पहली बार इस मोबाइल फोन के द्वारा बात की थी। दिल्ली के दूरसंचार भवन से कोलकाता की राइटर्स बिल्डिंग में यह फोन कनेक्ट किया गया था।

इस सेल्यूलर फोन की कॉल के बाद में भारत में मोबाइल फोन की शुरुआत हो गई थी। भारत में पहली बार उपलब्ध मोबाइल सर्विस को modi telstra’s mobile net सर्विस के द्वारा उपलब्ध करवाया गया था। मोदी टेलस्त्रा भारत के मोदी समूह और ऑस्ट्रेलिया टेलीकॉम  कंपनी के telstra ज्वाइंट वेंचर था। यह कंपनी भारत में 8 लाइसेंस प्राप्त करने वाली कंपनियों में से एक थी।

मोबाइल फोन से जुड़े हुए कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

दुनिया का सबसे पहला स्मार्टफोन सन 1997 में ericsson का GS88 पेनेलोप मॉडल का आया था।

दुनिया का सबसे अधिक बिकने वाला मोबाइल हैंडसेट नोकिया का 1100 था।

सन 2015 में शार्क मछली के हमले से भी ज्यादा मोबाइल फोन से सेल्फी लेते हुए लोग मारे गए थे।

मलेशिया में अपने पार्टनर से मोबाइल फोन पर टैक्स के रूप में मैसेज करने पर तलाक मांगने का कानून माना गया।

एप्पल कंपनी ने 2018 में प्रतिदिन 5 लाख 72 हजार मोबाइल फोन बेचे।

आज के समय में मोबाइल फोन इंडस्ट्रीज सबसे तेज आगे बढ़ने वाली इंडस्ट्रीज में एक है।

चीन में मोबाइल फोन इंटरनेट का इस्तेमाल करने वालों की संख्या कंप्यूटर पर इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों से भी अधिक है।

एक व्यक्ति कम से कम 1 दिन में 110 बार अपने मोबाइल फोन को अनलॉक करता है।

मोबाइल फोन का रेडिएशन बहुत खतरनाक होता है इससे आंख दर्द और सर दर्द की बहुत अधिक समस्याएं देखने को मिलती हैं।

अफ्रीका में तो पानी और बिजली के कनेक्शन से भी ज्यादा लोगों के पास में मोबाइल फोन के कनेक्शन है.

Conclusion

आज हमने इस आर्टिकल के द्वारा “मोबाइल फोन का आविष्कार किसने किया” इसके बारे में जानकारी दी है उन्होंने आपको हमारे द्वारा दी गई सभी जानकारी पसंद आई होगी। आप और अधिक किसी भी जानकारी के लिए आप हमारी वेबसाइट से जुड़े रह सकते हैं या फिर कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट करके भी पूछ सकते है।

Share on:

About The Author

2 thoughts on “मोबाइल का आविष्कार किसने किया? Who invented mobile?”

  1. Pingback: Sanitizer Kaise Banta Hai? Sanitizer Banane Ka Tarika. - Hindi Kalam

  2. Pingback: Aadhaar card Lock Unlock kaise kare? - Hindi Kalam

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top