पीएचडी फुल फॉर्म इन हिंदी/ Phd Full form in hindi

हेलो दोस्तों क्या आप जानते हो पीएचडी की डिग्री क्या होती है? बहुत कम लोग ऐसे होते हैं,जिनको पीएचडी के बारे में पूरी जानकारी होती है। पीएचडी की डिग्री बहुत ही सम्मानजनक डॉक्टर वाली उपाधि होती है। इस डिग्री को लेने के बाद में आपके कैरियर के बहुत सारे विकल्प हो सकते हैं। बहुत से लोग मेडिकल डॉक्टर नहीं होते हैं,अक्सर आपने देखा होगा कि हमारे देश में ऐसे बहुत से लोग हैं, जिनके नाम के आगे डॉक्टर लिखा है, लेकिन असल में वह डॉक्टर नहीं होते हैं, यह वही लोग हैं जिन्होंने पीएचडी की डिग्री हासिल कर रखी है।

पीएचडी फुल फॉर्म इन हिंदी/ Phd Full form in hindi

पीएचडी की डिग्री एक बहुत उच्च स्तरीय वाली डिग्री होती है। क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर पीएचडी की फुल फॉर्म क्या होती है, पीएचडी की किस तरह से तैयारी करनी पड़ती है? पीएचडी का क्या अर्थ है? आज के समय में अगर आप अपने कैरियर के विषय में आगे बढ़ना चाहते हैं, तो पीएचडी किसी भी विषय में करके आप अच्छा कैरियर बना सकते हैं, आइए जानते हैं पीएचडी फुल फॉर्म इन हिंदी के बारे में पूरी जानकारी…

क्या होती है पीएचडी?

पीएचडी एक उच्च डिग्री का कोर्स होता है, जो भी इच्छुक अभ्यर्थी इस कोर्स को करता है। उसके नाम के आगे डॉक्टर लग जाता है, जो कि बहुत बड़े गर्व की बात होती है। पीएचडी का कोर्स करने के लिए व्यक्ति के पास में मास्टर डिग्री का होना अति आवश्यक होता है। पीएचडी किसी एक विषय के अंतर्गत की जाती है। उस विषय पर रिसर्च करना पीएचडी ही माना जाता है।उस विषय के बारे में संपूर्ण जानकारी पीएचडी ही होती है। विदेशों में तो पीएचडी की डिग्री को सबसे ऊंची डिग्री भी माना जाता है। अगर आप कैरियर के रूप में वर्तमान समय में किसी भी कॉलेज में प्रोफेसर या कोई शोधकर्ता के पद पर नौकरी के लिए आवेदन कर रहे हो तो उसके लिए पीएचडी की डिग्री होना अति आवश्यक है। पीएचडी वाला व्यक्ति रिसर्चर या फिर एनालिसिस भी बन सकता है। Also Read: Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai- 2021 Ki Nyi Jankari.

पीएचडी फुल फॉर्म हिंदी में

दोस्तों क्या आपने सोचा है कभी पीएचडी का फुल फॉर्म हिंदी में क्या होता है या फिर पीएचडी को हिंदी में क्या कहते हैं चलिए आज आपको बता देते हैं पीएचडी को डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी कहा जाता है। इसको शार्ट रूप में सभी लोग भी पीएचडी बोलते हैं। पीएचडी को ही डॉक्टर की डिग्री के नाम से ही जाना जाता है। इस कोर्स को करने के लिए 4 से 5 साल का समय लगता है।

पीएचडी के लिए एबिलिटी

पीएचडी करने वाले अभ्यार्थियों के पास में सबसे पहले मास्टर की डिग्री होना अति आवश्यक है।  मास्टर अर्थात ग्रेजुएशन के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन करना जरूरी होता है। उसके बाद ही पीएचडी कर सकते हो। पोस्ट ग्रेजुएशन में कम से कम 55% अंक के साथ में पास होना अनिवार्य होता है। इसके अलावा अंको की योग्यता सभी अलग अलग कॉलेज के ऊपर निर्भर करती हैं।

आखिर कैसे करे पीएचडी?

अगर आप भविष्य में पीएचडी करना चाहते हैं तो उसके लिए निम्न तरीके से आपको उसकी तैयारी करनी होगी।

1.पोस्ट ग्रेजुएशन उत्तीर्ण करनाग्रेजुएशन करने के बाद में मास्टर की डिग्री लेना जरूरी है। आपको पोस्ट ग्रेजुएशन करने अनिवार्य होती है, इसके लिए कम से कम 55% अंक आपको पोस्ट ग्रेजुएशन में लाने होंगे, क्योंकि पीएचडी के लिए 55% के अंकों के साथ ही आपकी एबिलिटी देखी जाती है। पोस्ट ग्रेजुएशन में आपको सभी विषय के बारे में अच्छे से अध्ययन करना होगा।

2. पीएचडी का कोर्स करने के लिए NET( नेशनल एबिलिटी टेस्ट) की परीक्षा को पास करना जरूरी होता है या फिर आप जिस भी कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते हो उस कॉलेज का एंट्रेंस एग्जाम पास करना भी आवश्यक होता है।

3. क्या आप एंट्रेंस एग्जाम पास कर लेते हो उसके बाद अपनी पसंद की सब्जेक्ट को चुनकर पीएचडी में एडमिशन ले सकते हो और उसकी अच्छे से पढ़ाई पूरी कर सकते हो।

4. पीएचडी करने के लिए व्यक्ति की आयु अधिकतम 55 वर्ष की होती है अर्थात 55 वर्ष की आयु में व्यक्ति कभी भी पीएचडी कर सकता है।

PHD full form in english

पीएचडी फुल फॉर्म इंग्लिश में Doctor of philosophy है।

भारत के टॉप कॉलेज पीएचडी के लिए

दोस्तो आप जानते हो कि पीएचडी करने के लिए अच्छी यूनिवर्सिटी कॉलेज की आवश्यकता पड़ती है। जो पीएचडी करने के लिए सभी सुविधा उपलब्ध करवा सके। अक्सर ऐसा होता है, हमारे देश के बहुत से ऐसे अभ्यर्थी हैं, जिनको पीएचडी के लिए विदेश भी जाना पड़ता है। जिसने बहुत अधिक पैसा खर्च हो जाता है, लेकिन आज के इस समय में भारत में भी ऐसे बहुत अच्छे और बेहतरीन कॉलेज हैं, जिनसे आप पीएचडी कर सकते हो आइए जानते हैं..

  • अमेठी यूनिवर्सिटी नोएडा
  • बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी
  • जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी
  • जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी देहली
  • क्राइस्ट यूनिवर्सिटी बंगलोर
  • यूनिवर्सिटी ऑफ कोलकाता

पीएचडी की डिग्री के फायदे

1. पीएचडी करने के बाद में व्यक्ति के नाम के साथ में डॉक्टर की उपाधि लग जाती है।

2. पीएचडी की डिग्री मिलने के बाद में व्यक्ति को आसानी से कहीं पर भी नौकरी मिल जाती है।

3. पीएचडी करने के बाद में आप किसी भी एक संबंधित विषय पर  रिसर्च कर सकते हो।

4. आप अगर चाहते हैं किसी अन्य विषय पर रिसर्च करना इसके लिए आप पीएचडी कर सकते हो लेकिन आपके पास में उस विषय की मास्टर की डिग्री होना अति आवश्यक है।

5. पीएचडी करने के बाद में कॉलेज में प्रोफेसर के पद पर नौकरी भी की जा सकती है।

Conclusion

आज हमने आपको इस पोस्ट के द्वारा पीएचडी का फुल फॉर्म हिंदी में क्या होता है, इसके बारे में जानकारी दी है। वह मेरा आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। इससे और अधिक जानकारी के लिए आप हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट कर सकते हैं।

Popular Post

PUBG mobile lite hack download

PUBG mobile lite hack download की पूरी Step-by-Step जानकारी

1
अगर आप इस लेख पर आए है तो हम उम्मीद करते हैं कि आप अब जी के बहुत बड़े फैन होंगे अगर आप चाहते...

Y2Mate YouTube Video Downloader- Download Audio, Video In HD Quality.

0
आज के इस डिजिटल युग मे एक जहाँ सोशल मीडिया ऍप्लिकेशन्स का प्रयोग अधिक प्रचलन में देखा जा रहा हैं, ऐसे में विभिन्न विभिन्न...

My Tools Town- Increase Like & Subscribers.

1
आज के समय मे जिस प्रकार से सोशल मीडिया ऐप्लकैशन पर लाइक व फॉलोवर्स का ट्रेंड बहुत ही तेजी से बढ़ रहा हैं, उसे...

जन सूचना अधिकार अधिनियम – RTI क्या हैं?

2
किसी भी प्रदेश मे बेहतर साशन व प्रसाशन को बनाए रखने के लिए समान अधिकार प्रदान किए जाते हैं। जिसके चलते कोई भी व्यक्ति...
kalyan chart

kalyan chart – कल्याण चार्ट की पूरी जानकारी

0
क्या आप बिल्कुल कम समय में अमीर बनना चाहते हैं? अगर हां तो आप इस वक्त बिलकुल सही जगह पर है। हम यह नहीं...