Radio ka avishkar kisne kiya? रेडियो का आविष्कार किसने किया?

हेलो दोस्तों क्या आप जानते हो रेडियो का आविष्कार किसने किया था? पहले के समय में रेडियो का इस्तेमाल केवल खबरों के लिए ही किया जाता था। रेडियो के माध्यम से देश विदेश की खबरें आसानी से सुनने को मिल जाती थी। इसके अलावा मनोरंजन का भी यह बहुत अच्छा साधन था, क्योंकि इसके द्वारा नए पुराने गाने, भजन आदि सुनने को मिल जाया करते है, लेकिन धीरे-धीरे बदलते हुए युग के साथ में नए-नए टेक्नोलॉजी आई उसके हाथ टेलीविजन,कंप्यूटर, मोबाइल फोन, स्मार्टफोन आदि का प्रचलन बहुत अधिक होने लग गया।

ऐसे में रेडियो की उपयोगिता थोड़ी कम हो गई। रेडियो का आविष्कार अट्ठारह 19वीं शताब्दी में उन लोगों के लिए एक वरदान से कम नहीं था। जब सुबह सुबह अखबार की जगह लोग रेडियो पर उठकर देश विदेश की खबरें सुनते थे। आइए आज हम आपको इस आर्टिकल के द्वारा रेडियो का आविष्कार किसने किया, कब किया, रेडियो का महत्व आदि के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं.

Radio ka avishkar kisne kiya? रेडियो का आविष्कार किसने किया

क्या होता है रेडियो?

रेडियो संचार का एक ऐसा साधन है। जिसके द्वारा किसी भी संदेश को एक जगह से दूसरी जगह पर भेजा जा सकता है। संदेश भेजने के लिए इसमें तारों का इस्तेमाल नहीं करना पड़ता। आज अगर रेडियो का आविष्कार नहीं होता तो हमें नई-नई प्रकार के टेक्नोलॉजी देखने को नहीं मिल पाती। रेडियो का आविष्कार मनुष्य के जीवन का पहला आविष्कार संचार का साधन है। वीडियो में ध्वनि तरंगे अर्थात सिग्नल के द्वारा दूसरे देश में सिग्नल से ध्वनि भेजी जाती है। रेडियो की फ्रीक्वेंसी रेंज 30hz से 300Ghz के बीच मे ही होती है। रेडियो तरंगों को जोड़ने के लिए ट्रांसमीटर के द्वारा जोड़कर जनरेट किया जाता है। इन तरंगों को रिसीव करने बाला डिवाइस रेडियो रिसीवर कहलाता है।

रेडियो का आविष्कार किसने किया?

रेडियो का आविष्कार गुगलैल्मो मार्कोनी को ही रेडियो का मुख्य आविष्कार जनक माना जाता है इसके अलावा दो अन्य वैज्ञानिकों का नाम भी रेगीनाल्ड फ़ेससेंडन (reginald  fessenden) ओर विलियम दुबिलिएर का नाम भी इस आविष्कार से जोड़ा गया है। तीन तीन महान बड़े वैज्ञानिकों के द्वारा ही रेडियो के रूप में एक मनोरंजन का अच्छा साधन मिला। सन 1880 के दौरान Heinrich rudolf hertz के द्वारा इलेक्ट्रोमैटिक तरंगों की खोज हुई उसके बाद गुगलैल्मो मार्कोनी ऐसे पहले व्यक्ति थे जिन्होंने सही तकनीकी का उपयोग करके लंबी दूरी संचार के लिए एक सरल व आसान उपकरण तैयार किया। इसी वजह से मारकोनी को रेडियो का आविष्कार जनक माना जाता है. Bulb ka avishkar kisne kiya? बल्ब का आविष्कार किसने किया?

सन 1900 में गुलिएल्मो मार्कोनी के इस आविष्कार के बाद में 23 दिसंबर को एक कनाडियन आविष्कारक reginald fessenden ने कुछ इलेक्ट्रोमैटिक तरंगों का उपयोग करते हुए लगभग 1.5 किलोमीटर की दूरी से एक सफलतापूर्वक ऑडियो भेजी। ऐसा काम करने वाले यह पहले व्यक्ति बने थे। इनके 6 साल बाद 1906 में पहला पब्लिक रेडियो ब्रॉडकास्ट किया गया।और 1910 के आसपास वायरलेस इलेक्ट्रोमैटिक सिस्टम को रेडियो का नाम दिया गया।

कैसे बनते हैं रेडियो सिगनल?

रेडियो तरंगे अर्थात रेडियो सिग्नल विद्युत धारा के प्रभाव से रेडियो में आवृत्ति को बदलने पर बनती हैं यह धारा 1 एंटीने के द्वारा ही प्रभावित होती है। इस तरह से रेडियो के सिग्नल एंटीने के माध्यम से मिल जाते हैं।

भारत में हुई रेडियो की शुरुआत

भारत में सबसे पहले मद्रास रेजीडेंसी में सन 1924 के अंदर पहले रेडियो स्टेशन की स्थापना की गई। उसके बाद 1924 में ही मुंबई के व्यापारियों के द्वारा भारतीय प्रसार कंपनी की स्थापना हुई।सन 1932 से 1936 के बीच में ब्रिटिश सरकार के द्वारा ऑल इंडिया रेडियो का आविष्कार किया गया। उसके बाद में एयर इंडिया रेडियो का नाम आकाशवाणी रख दिया गया। हमारे देश में रेडियो के द्वारा पहला समाचार बुलेटिन 19 जनवरी 1936 को मुंबई में प्रचारित हुआ था। वर्तमान समय में हमारे देश में लगभग 3300 बुलेटिन प्रसारित होते हैं

रेडियो से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण रोचक बातें

रेडियो से जुड़ी हुई कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां निम्न प्रकार से हैं..

  •  मारकोनी के द्वारा बनाई हुई रेडियो तरंगों को सन 1906 में अटलांटिक महासागर के जहाज के ऑफिसर को पहली बार सुनाया गया।
  • पहली बार न्यूयॉर्क शहर में रेडियो स्टेशन 1918 में बनवाया गया जिसको सरकार ने इन लीगल करार करके बंद कर दिया। उसके बाद 1920 में लीगल रूप से इसको फिर से बनवाया गया।
  • विश्व रेडियो दिवस 13 फरवरी के दिन मनाया जाने लगा।
  • रेडियो चैनल पर विज्ञापन का दौर 1923 से शुरू किया गया पहली बार बीबीसी रेडियो चैनल पर विज्ञापन को लांच किया गया।
  • रेडियो का प्रसार भारत मे पहली बार कोलकाता में शुरू किया गया था।
  • शुरुआत में रेडियो को वायरलेस टेलीग्राफ कहा जाता था, बाद में इसका नाम बदलकर रेडियो कर दिया गया।
  • हमारे देश का पहला प्राइवेट रेडियो स्टेशन 2021 में बेंगलुरु में स्थापित किया गया।
  • रेडियो के लाइसेंस के रूप में ₹10 सन 1930 तक देने पड़ते थे।
  • भारत का सबसे लोकप्रिय रेडियो चैनल 93.5 FM है।

रेडियो का सही उपयोग

रेडियो का सही प्रयोग रेडियो सिग्नल का इस्तेमाल करने में सेल फोंस,टेलीविजन की ब्रॉडकास्टिंग, वायरलेस कम्युनिकेशन, अर्थात बिना तारों वाले संसार के रूप में, सेटेलाइट के संचार में, नेटवर्क के संचार आदि में रेडियो का सही उपयोग किया जाता है।

आज हमने आपको इस आर्टिकल के द्वारा रेडियो का आविष्कार किसने किया के बारे में सभी जानकारी दी है। आपको यह सब जानकारी पसंद आयी तो लाइक शेयर जरूर कीजिए। और किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए या अन्य किसी सुझाव के लिए आप हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Jio Phone Me Play Store Kaise Chalaye? – HindiKalam

1
Jio Phone Me Play Store Kaise Chalaye? : हेलो दोस्तो आप सभी आर्टिकल का टाइटल पढ़कर समझ गए होंगे की, आज के आर्टिकल में...

Paypal Account Kaise Banaye? in 2021 – HindiKalam

3
Paypal Account Kaise Banaye? in 2021 : हेलो दोस्तो कैसे है आप सभी हम उम्मीद करते है की आप सभी ठीक होंगे। आज हम...

लव का फुल फॉर्म क्या होता है? Love ka full form kya hota hai?

1
हेलो दोस्तों क्या आप जानते हैं लव का फुल फॉर्म क्या होता है। लव प्यार,दोस्ती, भावना को कहा जाता है। प्यार एक ऐसा  ऐसा...

Free fire का बाप कौन है? Free Fire ka baap kaun hai 2021?

1
Free Fire ka Baap kaun hai? वैसे तो हर गेम अपने आप में महान होता है लेकिन लोगो को कुछ अच्छा देखने के लिए...

वर्क शीट क्या होती है What is a Worksheet?

2
आज के तकनीकी विज्ञान से भरे युग में सभी कार्य कंप्यूटर पर किए जाते हैं.। ऐसे में बहुत ही ऐसी कंप्यूटर एप्लीकेशंस होती है...
error: Content is protected !!