वर्क शीट क्या होती है What is a Worksheet?

आज के तकनीकी विज्ञान से भरे युग में सभी कार्य कंप्यूटर पर किए जाते हैं.। ऐसे में बहुत ही ऐसी कंप्यूटर एप्लीकेशंस होती है जिनके बारे में जानकारी होना बेहद जरूरी होता है। इनमें सबसे अधिक काम में ली जाने वाली एप्लीकेशन एम एस एक्सेल होती है आप सभी लोग जानते हैं कि MS एक्सेल पर ऑफिस के सभी कार्य किए जाते हैं।

एम एस एक्सेल में खुलने वाली वर्कशीट का प्रयोग सभी प्रकार के डाटा ओं और अकाउंट के कामों के लिए किया जाता है। जब हम कंप्यूटर या लैपटॉप पर एमएस एक्सल को ओपन करते हैं उसमें जो रो कॉलम बने हुए होते हैं उन्हीं को ही वर्कशीट कहा जाता है । अगर कंप्यूटर की लैंग्वेज में बात की जाए तो एक्सेल के अंदर वर्कशीट को स्प्रेडशीट भी कहा जाता है। आज हम आप सभी के लिए इस आर्टिकल के माध्यम से वर्कशीट क्या होती है इसके क्या क्या उपयोग हो सकते हैं आइए जानते हैं.

वर्क शीट क्या होती है What is a Worksheet?

‘worksheet’ क्या होती है ?

वर्कशीट प्रमुख रूप से सेल का ही एक संग्रह होता है। जिसको कभी भी हेरफेर नहीं किया जा सकता है। एमएस एक्सल में रो बार के दाई और कॉलम बार के नीचे का क्षेत्र ही वर्कशीट कहलाता है इसको स्प्रेडशीट भी कहा जाता है। इसमें रो कॉलम का जाल होता है। वर्कशीट के अंदर एक जैसी सूचनाओं को संग्रहित करने में बहुत आसानी हो जाती है। इसके अलावा वर्कशीट को हमेशा वर्क बुक में सेव किया जाता है। इसका एक्सटेंशन .xLS होता है। एक्सेल की सबसे बड़ी खासियत इसमें वर्कशीट के अंदर एक साथ कई डाटा को टाइप किया जा सकता है। इसमें किसी भी प्रकार का संशोधन भी हो सकता है और अलग-अलग वर्कशीट के आधार पर गणना भी की जा सकती है। Also Read: NDRF क्या है इसकी फुल फॉर्म NDRF Full Form?

वर्कशीट के कुछ बेसिक फंक्शन

जब भी एम एस एक्सेल में वर्कशीट को ओपन करते हैं तो उसमें कुछ बेसिक फंक्शंस होते हैं जिनकी जानकारी निम्न प्रकार से है…

1. सेलेक्ट वर्कशीट – जब आप वर्कशीट को ओपन करते हो उसमें एक्सेल वर्क बुक होती है, तब एक्सल ऑटोमेटेकली शीट फर्स्ट को आपके लिए सेलेक्ट कर देता है। वर्कशीट का नाम अपीयर होता है इससे सीट टैब में जो कि डॉक्यूमेंट विंडो के बॉटम में होता है

2. इंसर्ट वन वर्कशीट – आप अपनी वर्कशीट को कभी भी इन्सर्ट कर सकते हैं, यदि आपके लिए एक नई वर्कशीट इन्सर्ट करना चाहते हैं तो प्लग sign के ऑप्शन पर क्लिक करें। यह बटन आपको डॉक्यूमेंट विंडो के बॉटम में मिल जाएगा।

3. रिनेम वर्कशीट – अगर आप वर्कशीट को कुछ ज्यादा स्पेशल नाम देना चाहते हैं उसके लिए आपको निम्न स्टेप को फॉलो करना होगा।

  • right क्लिक करके शीट फर्स्ट के शीट टैब पर जाना होगा।
  • फिर वहां रिनेम को चूज करना।
  • उसके बाद आप परी नेम टाइप कर पाओगे उदाहरण के लिए, type Hello 2020

4. मूव करें वर्कशीट को – अगर आपको वर्कशीट मूव करना है तो आप उसके लिए वर्कशीट टैब के ऊपर क्लिक कर के ड्रग करके न्यू पोजिशन भी लेना होगा। उसके बाद आप की वर्कशीट मूव कर पाएगी।

5. डिलीट वर्कशीट – वर्कशीट को डिलीट करने में कोई परेशानी नहीं आती है इसके लिए इसमें राइट टैब के ऑप्शन दिया गया है इससे आप आसानी से डिलीट कर सकते हैं।

6. कॉपी वर्कशीट – अगर आपको अपनी पुरानी वर्कशीट के जैसे ही नई वर्षित बनानी है उसके लिए आपको ज्यादा समय नहीं लगेगा इसमें कॉपी का एक नया ऑप्शन दिया होता है जिससे आप आसानी से एक नई वर्कशीट तैयार कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको राइट साइड में सीट टैब के ऊपर जिसको कॉपी करना चाहते हैं उस पर क्लिक करें।
  • फिर आपको यह देखना होगा कि सीट को मूवी या कॉपी चूज़ करें ऐसे करने से move और कॉपी डायलॉग बॉक्स पर अपीयर हो जाएगा।
  • फिर मूव टू एंड को सेलेक्ट करें और चेक करें आपकी न्यू क्रिएट कॉपी वर्कशीट को।
  • उसके बाद ओके पर क्लिक करें।

वर्क बुक क्या होती है?

वर्क बुक एक एक्सेल की फाइल होती है, इसके अंदर 256 वर्कशीट एक वर्कबुक में होती है। तथा बाय डिफॉल्ट में तीन वर्कशीट दी होती है, इसमें नई वर्कशीट को ऐड और डिलीट भी आसानी से किया जा सकता है।इसके अलावा सीट को रिनेम भी कर सकते हैं। इसके अलावा बहुत आसानी से वर्क बुक में सीट को कॉपी और मूवी कर सकते हैं जैसे आप बार बुक ओपन करते हो उसके साथ-साथ वर्कशीट भी खुल जाती है एक साथ आप वर्क बुक वर्कशीट में काम कर सकते हो।

स्प्रेडशीट क्या है?

स्प्रेडशीट कंप्यूटर सॉफ्टवेयर का एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम होता है। इसके अंदर डाटाटेबल के रूप में रो कॉलम के फॉर्म में डाटा को मैनेज करने या अरेंज करने की सुविधा दी जाती है। जिससे आप अपने डाटा को रो कॉलम मैं अरेंज कर सकते हो और उस डाटा पर आप किसी भी तरह का एनालिसिस भी कर सकते हो। डाटा कुछ भी हो सकता है जैसे कोई टैक्स, नम्बरीक इंफॉर्मेशन या लॉजिकल इंफॉर्मेशन भी इसमें डाटा के रूप में हो सकती है। स्प्रेडशीट में आप बड़ी से बड़ी कैलकुलेशन को भी आसानी से कर सकते हो।

स्प्रेडशीट किसी भी प्रकार के डाटा की गणना और प्रोसेस को करने का कार्य करती है।

इसके अलावा किसी भी डेटाबेस की तेजी से शार्ट इन और सर्चिंग का कार्य भी इसमें हो सकता है।

बिजनेस ग्राफिक्स क्रिएट किए जा सकते हैं जैसे चार्ट्स ग्राफ्स आदि।

वर्क बुक और वर्कशीट में अंतर

वर्क बुक मैं वर्कशीट में अंतर निम्न है आइये जानते है

  • वर्क बुक एक एक्सेल फाइल होती है इसके अंदर बहुत सारी वर्कशीट होती है।
  • वर्कशीट एक बुक के पेज की तरह होती है एक बार बुक में 256 वर्कशीट पाई जाती हैं।
  • एक वर्कशीट में 65536 रो और 256 कॉलम पाए जाते हैं।
  • वर्कशॉप में नई वर्कशीट को जोड़ा जा सकता है इसके अलावा उसको डिलीट भी कर सकते हैं और वर्कशीट के हर कॉलम पर एक नया नाम भी होता है।
  • वर्कशीट में अल्फाबेट से डिजाइन किया जा सकता है। रो को न्यूमैरिक नंबर से भी डिजाइन कर सकते हैं।

Conclusion

दोस्तो, आज हमने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको वर्कशीट क्या होती है, इसके उपयोग और फायदे के बारे में बताया है। उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई सभी जानकारी पसंद आई होगी। इससे और अधिक जानकारी किसी सुझाव के लिए आप हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट कर सकते हैं।

Popular Post

PUBG mobile lite hack download

PUBG mobile lite hack download की पूरी Step-by-Step जानकारी

1
अगर आप इस लेख पर आए है तो हम उम्मीद करते हैं कि आप अब जी के बहुत बड़े फैन होंगे अगर आप चाहते...

Y2Mate YouTube Video Downloader- Download Audio, Video In HD Quality.

0
आज के इस डिजिटल युग मे एक जहाँ सोशल मीडिया ऍप्लिकेशन्स का प्रयोग अधिक प्रचलन में देखा जा रहा हैं, ऐसे में विभिन्न विभिन्न...

My Tools Town- Increase Like & Subscribers.

1
आज के समय मे जिस प्रकार से सोशल मीडिया ऐप्लकैशन पर लाइक व फॉलोवर्स का ट्रेंड बहुत ही तेजी से बढ़ रहा हैं, उसे...

जन सूचना अधिकार अधिनियम – RTI क्या हैं?

2
किसी भी प्रदेश मे बेहतर साशन व प्रसाशन को बनाए रखने के लिए समान अधिकार प्रदान किए जाते हैं। जिसके चलते कोई भी व्यक्ति...
kalyan chart

kalyan chart – कल्याण चार्ट की पूरी जानकारी

0
क्या आप बिल्कुल कम समय में अमीर बनना चाहते हैं? अगर हां तो आप इस वक्त बिलकुल सही जगह पर है। हम यह नहीं...