कलौंजी का दूसरा नाम क्या है? What is another name of Kalonji

क्या आप कलौंजी के बारे में जानते हैं क्योंकि कलौंजी को पहचानने में अक्सर लोग कहीं ना कहीं गलती कर देते हैं इसका मुख्य कारण यह होता है कि इसके अन्य नाम के बारे में ठीक से उनको जानकारी नहीं हो पाती है। इसके अलावा दूसरे मसालों से मेल भी नहीं खा पाता है इसलिए बहुत से लोगों को नहीं पता कि कलौंजी का आखिर दूसरा नाम क्या है।

भारतीय रसोई में मसालों का एक अलग ही महत्व होता है खाने में पारंपरिक तरीके से स्वाद बढ़ाने के लिए ही मसालों का प्रयोग नहीं होता है बल्कि इन सभी में कुछ औषधीय तत्व भी पाए जाते हैं इस वजह से मसाले में इनका प्रयोग होता है।

इसीलिए आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से कलौंजी क्या है इसका दूसरा नाम क्या है इसके बारे में ही जानकारी देने वाले हैं आप ध्यान पूर्वक अंत तक हमारी इस पोस्ट को पड़े ताकि आपको कलौंजी के बारे में जानकारी सही ढंग से प्राप्त हो सके

कलौंजी का दूसरा नाम क्या है? What is another name of Kalonji

जब बात कलौंजी के आती है तो मन में सभी के कलौंजी क्यों लेकर गेहूं के काले दानों के समान चित्र दिखाई देता है अर्थात कलौंजी गेहूं के दाने की तरह दिखाई देता है लेकिन यह काले रंग का होता है आज का हमारा विषय कलौंजी का दूसरा नाम क्या है और कलौंजी क्या है, किस चीज के लिए इसका उपयोग होता है, इसके क्या क्या फायदे हैं इन सभी के बारे में आपको जानकारी बताने जा रहे हैं आइए जानते हैं

कलौंजी कहते किसे हैं?

जैसा कि आप सभी को पहले भी बता चुके हैं हमारे भारतीय खानपान में जिन मसालों का प्रयोग होता है। उन सभी में किसी ना किसी तरह के औषधीय तत्व पाए जाते हैं। उन्हीं में से कलौंजी भी एक औषधीय पौधा होता है। इस पौधे के जो बीज है उनको कलौंजी कहा जाता है। अक्सर इन का प्रयोग औषधि के रूप में किया जाता है।

सबसे ज्यादा प्रयोग अचार का मसाला बनाने के लिए कलौंजी का होता है प्राचीन किवदंतियों में अचार में कलौंजी डालने की वजह से आचार बहुत लंबे टाइम तक उसको सुरक्षित रखा जा सकता है कलौंजी रनूनकुलेसी कुल का पौधा होता है और यह भारतवर्ष में हर जगह देखने को मिल सकता है। इस पौधे के बीज काले रंग के होते हैं इनका आकार अंडाकार होता है और आसानी से आप किसी भी दुकान से इनको खरीद सकते हो।

कलौंजी की पोषण का महत्व

कलौंजी के बीज में बहुत अधिक मात्रा में अमीनो एसिड आयरन सोडियम कैल्शियम पोटेशियम और फाइबर भरपूर पाए जाते हैं। इसके अलावा आपको बहुत से विटामिन बी जैसे विटामिन ए विटामिन बी विटामिन B12 विटामिन सी आदि भी इसमें मिलेंगे। कलौंजी का तेल भी बहुत ही फायदेमंद होता है क्योंकि इसके तेल में essential fatty एसिड्स विटामिन मिनरल्स होते हैं। वही इसमे में 17% प्रोटीन 26% कार्बोहाइड्रेट और 57% प्लांट फैक्ट्स आयल भी पाया जाता है।

Also Read: Fennel seeds in hindi फेनल सीड इन हिंदी

कलौंजी का दूसरा नाम

कलौंजी का दूसरा नाम “आशीष के बीज” होता है। इसके अलावा इनको काला बीज और काला जीरा भी कहा जाता है। कलौंजी के पौधे 12 इंच तक लंबाई के पाए जाते हैं। कलौंजी के पौधों में आने वाले बीज को ही कलौंजी कहा जाता है। कलौंजी के बीजों में बहुत से औषधीय गुण पाए जाते हैं। इसके अलावा कलौंजी को अंग्रेजी में Nigella seeds भी कहते हैं वही इनको black cumin भी कहा जाता है। कलौंजी का वैज्ञानिक नाम NiGELLA SATIVA है।

वास्तविक नामनैजेल सीड
संस्कृत का नामकृष्ण जीरा
रनूनकुलेसी कुलझाड़ियां पौधा

कलौंजी से होने वाले फायदे

कलौंजी से होने वाले फायदे निम्न है

1.याददाश्त को बढ़ाना – कलोंजी को रोजाना प्रयोग में लेने से बच्चों की याददाश्त बढ़ती है और बुजुर्गों के लिए भी उनकी कमजोर याददाश्त को सही करने में बहुत फायदेमंद होती है।

2. मधुमेह के लिए

कलौंजी मानव शरीर में रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए बहुत फायदेमंद होती है।

3. हृदय को स्वस्थ रखने में

कलौंजी का प्रयोग हृदय को स्वस्थ रखने में फायदेमंद होता है यह शरीर के अंदर खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कंट्रोल कर के हार्ड को एकदम सही रखता है।

4. सूजन को कम करना

कलौंजी के बीज सुजन रोधी गुण वाले होते हैं पुरानी से पुरानी सूजन का भी कलौंजी के प्रयोग से इलाज किया जा सकता है यह जोड़ों के दर्द को ठीक करने के लिए उनमें चिकनाई प्रदान करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण होते हैं।

5. ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करना

कलौंजी का तेल हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में फायदेमंद होता है।

6. सर दर्द में राहत

कलौंजी के तेल से अगर सर के दर्द की मालिश की जाए तो सर दर्द में बहुत आराम मिलता है। कलौंजी का तेल सर में रगड़ने से बहुत तेज दर्द होने पर भी तुरंत आराम मिल जाता है।

7. पाचन शक्ति मजबूत – कलौंजी के पौधे की पत्तियों का काढ़ा बनाकर पीने से पाचन शक्ति बहुत मजबूत होती है और पेट भी साफ हो जाता है।

8. कलौंजी के पौधे की पत्तियों से काढ़ा बनाकर पीने से जोड़ों का दर्द गठिया रोग और मानसिक तनाव भी दूर किया जा सकता है।

9 अगर किसी को बार बार उल्टी की समस्या हो रही है तो एक चम्मच कलौंजी का तेल पीने से उल्टी जैसी समस्या से छुटकारा मिल सकता है।

Conclusion

आज हमने इस पोस्ट के माध्यम से आप सभी को कलौंजी का दूसरा नाम क्या है इसके बारे में जानकारी प्रदान की है। हमें उम्मीद है कि आपको जो भी जानकारी हमने बतायी है आपको जरूर पसंद आएगी। इसी तरह की जानकारियों से जुड़े रहने के लिए आप हमारी वेबसाइट पर बने रहिए और आपको इस लेख से संबंधित किसी भी समस्या या सुझाव के लिए हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट करके भी पूछ सकते है।

Popular Post

PUBG mobile lite hack download

PUBG mobile lite hack download की पूरी Step-by-Step जानकारी

1
अगर आप इस लेख पर आए है तो हम उम्मीद करते हैं कि आप अब जी के बहुत बड़े फैन होंगे अगर आप चाहते...

Y2Mate YouTube Video Downloader- Download Audio, Video In HD Quality.

0
आज के इस डिजिटल युग मे एक जहाँ सोशल मीडिया ऍप्लिकेशन्स का प्रयोग अधिक प्रचलन में देखा जा रहा हैं, ऐसे में विभिन्न विभिन्न...

My Tools Town- Increase Like & Subscribers.

1
आज के समय मे जिस प्रकार से सोशल मीडिया ऐप्लकैशन पर लाइक व फॉलोवर्स का ट्रेंड बहुत ही तेजी से बढ़ रहा हैं, उसे...

जन सूचना अधिकार अधिनियम – RTI क्या हैं?

2
किसी भी प्रदेश मे बेहतर साशन व प्रसाशन को बनाए रखने के लिए समान अधिकार प्रदान किए जाते हैं। जिसके चलते कोई भी व्यक्ति...
kalyan chart

kalyan chart – कल्याण चार्ट की पूरी जानकारी

0
क्या आप बिल्कुल कम समय में अमीर बनना चाहते हैं? अगर हां तो आप इस वक्त बिलकुल सही जगह पर है। हम यह नहीं...