भारत के राष्ट्रपति कौन हैं? Who is the president of india?

हमारा देश दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र वाला देश है। यहां पर प्रधानमंत्री के पास में सारी संवैधानिक शक्तियां होती हैं। इन सभी संवैधानिक शक्तियों के मामले में राष्ट्रपति का स्थान दूसरे नंबर पर आता है, लेकिन दुनिया के बहुत से देशों में राष्ट्रपति के पास में बहुत अधिक संवैधानिक सारी पावर होती है,लेकिन कुछ देश ही ऐसे हैं जिनमें प्रधानमंत्री के पास में ही संवैधानिक पावर होती है। जिनमें से ब्रिटेन, इंडिया प्रमुख है। भारत का राष्ट्रपति देश के पहले व्यक्ति के रूप में गिना जाता है। राष्ट्रपति भारतीय गणराज्य का प्रमुख व्यक्ति होता है।

भारत में राष्ट्रपति का चुनाव हमेशा अप्रत्यक्ष रूप से होता आ रहा है, यानी कि राष्ट्रपति का चुनाव जनता के द्वारा नहीं होता है। राष्ट्रपति के चुनाव के लिए सांसदों और विधायकों के द्वारा वोटिंग होती है। जो कि भारतीय संविधान अनुच्छेद 54 और 55 के अंतर्गत की जाती है। राष्ट्रपति का चुनाव हर 5 साल बाद होता है। आज हम आपको इस पोस्ट के द्वारा भारत के राष्ट्रपति कौन हैं, राष्ट्रपति की क्या पावर होती है, भारत के वर्तमान समय में राष्ट्रपति कौन हैं, राष्ट्रपति के कार्य इन सभी के बारे में आपको बताने जा रहे हैं….

भारत के राष्ट्रपति कौन हैं? Who is the president of india?

राष्ट्रपति कौन होता है ?

राष्ट्रपति का चुनाव जनता के द्वारा ना होकर सभी राज्यों के सांसदों विधायकों व केंद्र शासित प्रदेशों के भी सांसद व विधायकों के द्वारा किया जाता है। राष्ट्रपति संपूर्ण राष्ट्र का मुखिया कहलाता है। संसद में पास किसी भी प्रकार के के लिए राष्ट्रपति की मंजूरी होना भी जरूरी होता है। भारत के सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों की नियुक्ति भी राष्ट्रपति के द्वारा ही होती है। भारत की आजादी से लेकर अब तक 14 राष्ट्रपति की नियुक्ति की जा चुकी है।

भारत के राष्ट्रपति कौन हैं

वर्तमान में भारत के राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद है इन्होंने राष्ट्रपति के पद का कार्यभार 25 जुलाई 2017 को संभाला था इससे पहले रामनाथ कोविंद 2015 से 2017 तक बिहार के राज्यपाल के पद पर कार्यरत रहे थे रामनाथ कोविंद ने कानपुर विश्वविद्यालय के डॉ अमित कुमार श्रीवास्तव कॉलेज से कॉमर्स और कानून की डिग्री ली है। Also Read: IPS का फुल फॉर्म इन हिंदी ? IPS full form in hindi?

भारत के राष्ट्रपति का राजनीतिक सफर

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का जन्म 1 अक्टूबर सन 1945 को उत्तर प्रदेश राज्य के कानपुर जिले के पास एक गांव में हुआ था। राष्ट्रपति महोदय के पिता एक किसान थे, इसीलिए उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा गांव के ही एक स्कूल से की थी उसके बाद कानपुर से इन्होंने अपनी कॉलेज की पढ़ाई को पूरा किया। रामनाथ कोविंद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक भी रह चुके हैं। इसके बाद ये भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए थे।

रामनाथ कोविंद सन 1994 में राज्यसभा के सांसद के रूप में चुने गए थे। राष्ट्रपति कोविंद को पहली बार 8 अगस्त 2015 में राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल के द्वारा बिहार के राज्यपाल के पद के लिए चुना गया था। उन्होंने 30 जून 2017 तक बिहार के राज्यपाल पद पर कार्य किया उसके बाद राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल समाप्त हुआ तो श्री रामनाथ कोविंद जी को हमारे देश में 14 राष्ट्रपति के रूप में चुन लिया गया।

भारत के राष्ट्रपति की शक्तियां व अधिकार

भारत में राष्ट्रपति की शक्तियां भारतीय संविधान के अंतर्गत प्राप्त होती हैं राष्ट्रपति को मिलने वाली शक्ति व अधिकार निम्न है…

कार्यपालिका की शक्तियां,

 विधाई शक्तियां

 न्यायिक शक्तियां

 सैन्य शक्तियां

 विवेकी शक्तियां 

आपातकालीन शक्तियां

वीटो शक्तियां

भारत की पहली महिला राष्ट्रपति

हमारे देश की पहली महिला राष्ट्रपति श्रीमती प्रतिभा पाटिल थी। सन 2006 में प्रतिभा पाटिल ने राष्ट्रपति के पद के रूप में शपथ ली थी। उस समय हमारे देश में प्रधानमंत्री के पद पर डॉ मनमोहन सिंह थे। राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल का जन्म 19 दिसंबर सन 1934 को जलगांव महाराष्ट्र में हुआ था। इसके अलावा श्रीमती प्रतिभा पाटिल राजस्थान में राष्ट्रपति के पद पर भी रह चुकी थी।

राष्ट्रपति के चुनाव की प्रक्रिया

भारतीय संविधान अनुच्छेद 54 के अनुसार राष्ट्रपति के चुनाव के लिए संसद के दोनों सदन के सदस्य व सभी विधानसभाओं के सदस्यों के द्वारा ही राष्ट्रपति के चुनाव की प्रक्रिया को पूर्ण किया जाता है। राष्ट्रपति के चुनाव के दौरान गुप्त तरीके से मतदान होता है, इसीलिए राष्ट्रपति के चुनाव को अप्रत्यक्ष चुनाव भी कहा जाता है, क्योंकि यहां पर आम जनता शामिल नहीं होती है, लेकिन आम जनता के द्वारा चुने गए विधानसभा सदस्य और लोकसभा राज्यसभा के सदस्यों से ही राष्ट्रपति के चुनाव की प्रक्रिया पूरी होती है।

राष्ट्रपति पद के लिए योग्यताएं

राष्ट्रपति के पद के लिए निम्न योग्यताओं का होना जरूरी है

सबसे पहले राष्ट्रपति पद के लिए व्यक्ति का भारत का नागरिक होना जरूरी है।

उसके बाद इच्छुक उम्मीदवार की आयु 35 वर्ष या उससे अधिक की होनी चाहिए।

जो भी उम्मीदवार है वह लोकसभा का सदस्य होना जरूरी है।

राष्ट्रपति का वेतन

राष्ट्रपति का वेतन अक्टूबर 2017 से पहले 1.5 लाख रुपए हुआ करता था, लेकिन जब से हमारे देश में सातवां वेतन आयोग लागू हुआ है, तब से राष्ट्रपति का वेतन डेढ़ लाख रुपए से बढ़ाकर ₹500000 हो गया है। यह वेतन की राशि बिना टैक्स के होती है, अर्थात इस राशि पर किसी भी प्रकार का कोई टैक्स नहीं लगाया जाता। इसके अलावा राष्ट्रपति को अन्य कई प्रकार की सुविधाएं भी मिलती है। जिसमें मुफ्त में चिकित्सा सुविधा, आवाज़, पूरे लाइफटाइम किसी भी बीमारी के लिए इलाज मुफ्त में होता है।

Conclusion

आज हमने इस आर्टिकल के द्वारा भारत के राष्ट्रपति कौन है, भारत की पहली महिला राष्ट्रपति राष्ट्रपति के कार्य राष्ट्रपति के चुनाव प्रक्रिया इन सभी के बारे में जानकारी दी है उम्मीद है हमारे द्वारा दी गई यह सभी जानकारियां पसंद आई होंगी इससे जुड़ी हुई अन्य किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए आप हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Jio Phone Me Play Store Kaise Chalaye? – HindiKalam

1
Jio Phone Me Play Store Kaise Chalaye? : हेलो दोस्तो आप सभी आर्टिकल का टाइटल पढ़कर समझ गए होंगे की, आज के आर्टिकल में...

Paypal Account Kaise Banaye? in 2021 – HindiKalam

3
Paypal Account Kaise Banaye? in 2021 : हेलो दोस्तो कैसे है आप सभी हम उम्मीद करते है की आप सभी ठीक होंगे। आज हम...

लव का फुल फॉर्म क्या होता है? Love ka full form kya hota hai?

1
हेलो दोस्तों क्या आप जानते हैं लव का फुल फॉर्म क्या होता है। लव प्यार,दोस्ती, भावना को कहा जाता है। प्यार एक ऐसा  ऐसा...

Free fire का बाप कौन है? Free Fire ka baap kaun hai 2021?

1
Free Fire ka Baap kaun hai? वैसे तो हर गेम अपने आप में महान होता है लेकिन लोगो को कुछ अच्छा देखने के लिए...

वर्क शीट क्या होती है What is a Worksheet?

2
आज के तकनीकी विज्ञान से भरे युग में सभी कार्य कंप्यूटर पर किए जाते हैं.। ऐसे में बहुत ही ऐसी कंप्यूटर एप्लीकेशंस होती है...
error: Content is protected !!